बिलासपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस में अब अवसरवादी नेताओं के लिए जगह नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी में दोबारा वापसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह संभव नहीं है। यदि हम डॉ. रेणु जोगी को नहीं हटा रहे हैं तो यह हमारी मानवीयता है, जो कांग्रेस के डीएनए में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसते हुए राहुल ने कहा कि वे बिना रुके झूठ बोलते हैं। पीएम ने जनता से किया एक भी वादा नहीं निभाया है।

शुक्रवार की सुबह छत्तीसगढ़ भवन में एडिटर्स मीट में राहुल गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सक्षम टीम है, जो चुनाव जीतेगी। उन्होंने भाजपा, कांग्रेस के सियासी चरित्र, देश के हालात, बीजेपी की मंशा, छत्तीसगढ़ की राजनीति समेत कई मुद्दों पर खुलकर बात की। चर्चा की शुरुआत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के उस ट्वीट से हुई, जिसमें उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में विकास का क, ख, ग सीखने आए हैं।

इसके जवाब में राहुल ने कहा कि सीएम बिलकुल ठीक कह रहे हैं, मैं हर जगह जाकर कुछ सीखने की कोशिश करता हूं। किसान के पास जाता हूं तो उनसे सीखता हूं। कांग्रेस में सीखने का गुण है। यहां से भी कुछ सीखकर जाऊंगा, लेकिन भाजपा तो सीखना नहीं सिर्फ कहना जानती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नानस्टाप झूठ बोल रहे हैं। इतना झूठ बोल रहे हैं कि हम लिस्ट भी नहीं बना सकते। शुरुआत 15 लाख रुपए से कर सकते हैं।

राहुल ने कहा कि मोदी और अमित शाह की जोड़ी ऐसा वातावरण तैयार कर रही है कि देश की सम्प्रभुता को खतरा है। उन लोगों का मानना है कि भाजपा-आरएसएस की विचारधारा पूरे देश में मान्य है, जो इससे सहमत नहीं हैं वो देशद्रोही हैं। यह मानना देश के लिए खतरा है। भारत का निर्माण विभिन्न् विचारधाराओं से मिलकर हुआ है। मोदी-शाह की जोड़ी के इस विचार से देश के अलग अलग हिस्सों में बगावत का खतरा है। दक्षिण के नेता स्टालिन ने कहा है कि यदि भाजपा-आरएसएस अपनी विचारधारा थोपने की कोशिश करेगी तो वे स्वतंत्रता की दूसरी लड़ाई शुरू कर देंगे।

मोदी के खिलाफ जीत हासिल करने के तरीके के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये आसान है। यदि विपक्ष एकजुट हो जाएगा तो जीत जाएगा। वो दिन आने वाला है। सभी को समझ में आ रहा है कि भाजपा सरकार स्वतंत्रता के लिए खतरा है। ऐसा माहौल है कि देश एक बड़ी जेल बन गई है। विपक्षी दलों से गठबंधन पर उन्होंने कहा कि बात चल रही है। इस पर जल्दी निर्णय होगा। इस गठबंधन के नेतृत्व क्या आप करेंगे, इस सवाल पर वो मुस्कुरा दिए।

भारत के विकास के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस समय दुनिया सिर्फ भारत और चीन के विकास को देख रही है। अफसोस है की भारत अब चीन पर निर्भर हो रहा है। प्रधानमंत्री भविष्य की नहीं इतिहास की बात करते हैं। वो पीछे देखकर सरकार चला रहे हैं। छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी के अलग होकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ बनाने को वो कांग्रेस का टूटना नहीं मानते। राहुल का कहना है कि कांग्रेस नहीं टूटी है, जोगी कांग्रेस छोड़ कर गए हैं। लड़ाई के समय पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं की कांग्रेस को जरूरत नहीं है।

उन्होंने गुजरात के शंकर सिंह वाघेला का उदाहरण दिया। जब वाघेला पार्टी छोड़ कर जा रहे थे तो लोगों ने कहा कि उनका इतना जनाधार है, कांग्रेस को बड़ा नुकसान होगा। जबकि वाघेला को मात्र 28 हजार वोट मिले। कांग्रेस को मौकापरस्त नेता नहीं चाहिए। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसकी जरूरत महसूस नहीं होती।

बाक्स

शिवजी की बारात की तरह है कांग्रेस

उन्होंने कांग्रेस पार्टी के चरित्र, विचारधारा पर विस्तृत रूप से चर्चा की। राहुल ने बताया कि उन्होंने सोचा था कि क्यों नहीं कांग्रेस को भाजपा की तरह कैडर बेस बना दिया जाए। कांग्रेस का इतिहास जानने के बाद महसूस हुआ कि कांग्रेस आम आदमी की पार्टी है। भाजपा के पास यदि कोई जाएगा तो भाजपा उसे अपनी विचारधारा मानने के लिए मजबूर करती है, लेकिन कांग्रेस के पास यदि कोई आता है तो पार्टी उसकी विचारधारा का सम्मान करती है, उसे आत्मसात करती है। कांग्रेस शिवजी की बारात जैसी है, जिसमें सभी तरह के लोग हैं। शिवजी की बारात जैसा जोश भी है।

बीजेपी हिंदुत्व शब्द का कर रही दुरुपयोग

राहुल ने कहा कि पीएम मोदी अगर सचमुच देश की समस्याओं का समाधान चाहते हैं तो उन्हें सभी को साथ लेकर काम करना चाहिए। भाजपा देश के लोगों को छह माह का सपना दिखाकर 30 साल मांग रही है। साथ ही हिंदुत्व शब्द का दुरुपयोग कर रही है। किसी भी किताब में पढ़ लीजिए, जो व्यक्ति अपमान करने वालों को भी बदले में प्यार दे वे हिंद है। मैं इसी हिंदुत्व की रक्षा कर रहा हूं।