अंबिकापुर । रामानुजगंज नगर के वार्ड क्रमांक 13 में स्थित छत्तीसगढ़ वाहिनी 12 वीं बटालियन में शाम 7.30 बजे नव आरक्षक कोमेश कुमार पीसदा ने कीटनाशक दवा का सेवन कर आत्महत्या कर ली। बटालियन के कमांडेंट डीआर आँचला सहित अन्य अधिकारियों के समक्ष पोस्टमार्टम करा शव गृह ग्राम भेज दिया गया। छत्तीसगढ़ वाहिनी 12 वीं बटालियन के कमांडेंट डीआर आँचला ने बताया कि ग्राम सलाई टोला थाना डौंडी बालोद का रहने वाला 23 वर्षीय नवआरक्षक कोमेश कुमार पीसदा 22 वीं बटालियन से 1 अगस्त 2018 को रामानुजगंज के 12 वीं बटालियन प्रशिक्षण कर रहा था।

शाम को भोजन के बाद बैरक के पीछे फोरेट नामक कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया। उसके बाद वह बैरक में आकर जैसे ही लेटा तो पेट में दर्द होने लगा और छटपटाने लगा। तत्काल स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, लेकिन कुछ ही मिनट के पश्चात आरक्षक कोमेश कुमार पीसदा की मौत हो गई। बलरामपुर पुलिस अधीक्षक टीआर कोसीमा ने घटनास्थल के बाद अस्पताल में पहुंचकर जानकारी ली।

रामानुजगंज के थाना प्रभारी भारद्वाज सिंह ने बताया कि नवआरक्षक की मौत के पश्चात फिलहाल मर्ग कायम किया गया है। उसके पास से सुसाइड नोट और शादीशुदा युवती से व्हाट्सएप चैटिंग वाला मोबाइल भी जब्त किया गया है। उन्होंने बताया कि फिलहाल नवआरक्षक की मौत को एक तरफा प्रेम प्रसंग से जोड़ा जा रहा है।

मामला प्रेम प्रसंग का

बटालियन के अन्य साथी आरक्षकों ने बताया कि नवआरक्षक शादीशुदा युवती से एक तरफा प्रेम करता था। यह वाक्या इसके मोबाइल के व्हाट्सएप से पता चला। कीटनाशक दवा सेवन करने से पहले अपने गृहग्राम के आसपास के एक शादीशुदा युवती से व्हाट्सएप में चैटिंग कर रहा था और व्हाट्सएप के माध्यम से वीडियो कॉलिंग कर एक हाथ में भीगा हुआ मूंगफली का दाना और दूसरे हाथ में कीटनाशक फोरेट पाउडर रखकर सेवन करने को कह रहा था, जिस पर शादीशुदा युवती ने यह कहा कि पागलपन मत करो, हम शादीशुदा हैं। उसके बाद नव आरक्षक ने कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया। बटालियन के कमांडेंट डीआर आँचला और थाना प्रभारी भारद्वाज सिंह ने बताया कि नवआरक्षक के पास से सुसाइड नोट बरामद किया गया है।