0 सरहद से लगे पूर्व में नक्सल प्रभावित रहे इलाके में कड़ी सुरक्षा के बीच कार्यक्रम

0 मुख्यमंत्री ने शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की ली जानकारी

रामानुजगंज/आरागाही । नईदुनिया न्यूज

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तहत बुधवार को बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के विकासखंड रामचंद्रपुर के ग्राम नगरा के समाधान शिविर में पहुंचे। पूर्व में नक्सल प्रभावित क्षेत्र रहे नगरा में कड़ी सुरक्षा के बीच आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर नहर विस्तार कार्य एवं सड़क सुधार व सीसी सड़क निर्माण कराने की घोषणा की। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने आजीविका ग्रामीण एक्सपे्रस योजना के तहत 21 ग्राम संगठन के महिला समूहों को बैट्री चलित ऑटो एवं मात्रात्मक त्रुटि से वंचित जनजाति के लोगों को जाति प्रमाण पत्र सुधार कर तथा उज्जवला योजना के हितग्राहियों को रसोई गैस का वितरण किया गया।

लोक सुराज अभियान के शिविर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि लोक सुराज समाधान शिविर का आज चौथा दिन है और 11 मार्च को नक्सल प्रभावित सुकमा जिले से अभियान की शुरूआत हुई है। उन्होंने इस दौरान सुकमा के सुदूर वनांचल क्षेत्र के भेज्जी-इन्जरम सड़क के गुणवत्ता की जांच के संबंध में जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सुराज अभियान में मेरे साथ प्रदेश के मुख्य सचिव अजय सिंह एवं विशेष सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय मुकेश बंसल भी आज साथ हैं। इस अभियान में किसानों एवं ग्रामीणजनों के खेती-किसानी से संबंधित नामांतरण एवं बटवारा, बिजली सुधार जैसे छोटे-छोटे काम होते हैं और जिले के आम लोगों से मुलाकात होती है। लोक सुराज अभियान में ग्रामीण के एवं प्रशासन के अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ बेहतर तालमेल बनाकर शासन के जनकल्याणकारी योजनाओं का अच्छा क्रियान्वयन करने में मदद मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जिले में खैरवार एवं खेरवार जनजाति के लोग बड़ी संख्या में निवास करते हैं। मात्रात्मक त्रुटि के कारण खैरवार जनजाति के लोगों को जनजाति का लाभ नहीं मिलता था। जिसे अब सुधार कर लिया गया है, और वर्षों से मांग कर रहे खैरवार जनजाति को खेरवार के समान सभी सुविधाओं का लाभ मिलगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले के 68 अविद्युतीकृत घरों को माह सितंबर 2018 तक विद्युतीकरण करने का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने नगरा में ग्रिष्म ऋतु में खेतों में हरियाली लाने वाले कृषकों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। उन्होंने अपने सरकार की उपलब्धियां गिनाईं।

मौके पर विधायक बृहस्पत सिंह,मुख्य सचिव अजय सिंह, प्रभारी सचिव एनके खाखा, विशेष सचिव मुकेश बंसल, जनसंपर्क संयुक्त सचिव राजेश सुकुमार टोप्पो, कलेक्टर अवनीश कुमार शरण, एसपी टीआर कोसिमा, डीएफओ विवेकानंद झा, जिपं सीइओ शिव अनंत तायल, नपं अध्यक्ष रमन अग्रवाल, एसडीएम के.विजय दयाराम, जिला स्तरीय अधिकारी,कर्मचारी एवं जिले के निर्वाचित जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

शौचालयों का बकाया 35 करोड़ का एक माह में होगा भुगतान

जिले में निर्मित शौचालयों के मटेरियल भुगतान का 35 करोड़ व रामचंद्रपुर विकासखंड का नौ करोड़ रुपए का भुगतान एक माह के अंदर कर दिए जाने की जानकारी जिला पंचायत सीईओ में मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह को दी। वहीं मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने ग्राम नगरा समाधान शिविर में पहुंचते ही जनपद सीईओ डा. महेंद्र सिंह मरकाम से प्रधानमंत्री आवास व अन्य योजनाओं की जानकारी चाही तो डा. महेंद्र सिंह मरकाम जवाब नहीं दे पाए। इसपर डा. रमन सिंह ने नाराजगी व्यक्त करते हुए गांवों का दौरा करने की सलाह दी। जनपद सीईओ के जवाब नहीं दे पाने पर जिला पंचायत सीईओ ने मोर्चा संभाला।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम,ग्रामीण नहीं दे पाए आवेदन

मुख्यमंत्री रमन सिंह की कड़ी सुरक्षा के कारण बहुत से ग्रामीण मुख्यमंत्री से नहीं मिल पाए और न ही आवेदन दे पाए। इससे ग्रामीण निराश हुए। पूर्व में नक्सल प्रभावित होने के कारण मुख्यमंत्री के आगमन के मद्देनजर काफी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था।

आटो दिया और आटो में बैठ गए सीएम

आजीविका ग्रामीण एक्सपे्रस योजना के तहत 21 ग्राम संगठन के महिला समूहों को बैट्री चलित ऑटो मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने प्रदान किया। इस दौरान वे एक आटो में बैठ गए व महिला चालक से आटो चलाने को कहा। मुख्यमंत्री के इस सहज व्यवहार से प्रभावित महिलाओं ने ताली बजा उनका अभिनंदन किया।

डीएवी के छात्रों को किया सम्मानित

सीएम डॉ.रमन सिंह ने डीएवी स्कूल भंवरमाल के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को सम्मानित किया। उन्होंने अध्ययरत विद्यार्थियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुये परीक्षा में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को अंकसूची वितरण कर सम्मानित किया। उन्होंने विद्यार्थियों को एक लक्ष्य कर पढ़ाई में ध्यान देने के साथ खेल भी जरूरी है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने ग्रामीण छात्रों को डीएवी की उच्चस्तरी शिक्षा के संबंध में जानकारी देते हुए यहां अध्ययनरत छात्रों को पाठ्य पुस्तक एवं कॉपी का वितरण किया।