0 पुटु बिनने गए ग्रामीणों ने दी परिजनों को सूचना

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

लुंड्रा थाना क्षेत्र के उदारी बकनाकला में सोमवार रात 12 बजे घर से बिना बताए निकला युवक तीसरे दिन बकना जंगल में बोल्डर-पत्थर के नीचे बेहोशी की हालत में पड़ा मिला। गुरुवार सुबह खुखड़ी-पुटू के लिए जंगल गए गांव के लोगों ने इसकी जानकारी दी थी। परिजन मौके पर पहुंचे और उसे घर लेकर पहुंचे।

उदारी बकनाकला निवासी मोहरलाल नगेसिया पिता श्यामलाल नगेसिया 27 वर्ष की दिमागी हालत ठीक नहीं है। पत्नी और दो बच्चों सहित उसका भरा-पूरा परिवार है। सोमवार की रात को लगभग 12 बजे वह घर से बिना बताए निकला, इसके बाद वापस नहीं लौटा। परिजन उसकी तलाश में डडगांव, डहोली, पतराडीह, बरगीडीह का चक्कर काट चुके थे, लेकिन युवक का पता नहीं चला। युवक की पत्नी राजकुमारी ने बताया कि गुरूवार को सुबह लगभग 5-6 बजे गांव के पुरूष-महिला पुटू और खुखड़ी लेने के लिए बकना जंगल गए थे। यहां बोल्डर के पास उन्होंने किसी को पड़े देखा। पास जाने पर उन्होंने मोहरलाल को पहचाना और इसकी जानकारी उन्हें दी थी। परिजन उसे निकालकर बेहोशी की हालत में मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दाखिल कराया है। उसका उपचार जारी है।