0 तामझाम के साथ लगभग दो वर्ष पूर्व किया गया था आरंभ

0 तकनीकी कारणों से रेलवे आरक्षण सेवा बाधित होने का दावा

0 कर्मचारियों की कमी से भी जूझ रहा है डाक विभाग

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

अंबिकापुर के मुख्य डाकघर का रेलवे आरक्षण केंद्र महीनों से बंद पड़ा हुआ है। कर्मचारियों की कमी से पहले से ही जूझ रहे डाकघर में रेलवे आरक्षण के संचालन के लिए शुरू से ही दिक्कत थी। वर्तमान में बिश्रामपुर से अंबिकापुर के बीच कथित रूप से रेलवे आरक्षण के लिए जरूरी नेट सिस्टम में तकनीकी खराबी के कारण यह सुविधा बंद पड़ी हुई है। डाकघर का रेलवे आरक्षण बंद हो जाने से कलेक्टोरेट परिसर स्थित ई-सेवा केंद्र के रेलवे आरक्षण केंद्र में दबाव बढ़ा है।

उल्लेखनीय है कि रेल यात्रियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की मंशा से रेलवे प्रबंधन ने डाक विभाग से समझौता किया था। इसी समझौते के तहत लगभग दो वर्ष पूर्व अंबिकापुर के मुख्य डाकघर में रेलवे आरक्षण केंद्र की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। इस सुविधा के आरंभ होने से यात्रियों को बड़ी राहत मिली थी। चूंकि पहले से ही ई-सेवा केंद्र में रेलवे आरक्षण की सुविधा उपलब्ध थी और सरगुजावासियों को डाकघर में एक और रेलवे आरक्षण केंद्र आरंभ हो जाने से लंबा इंतजार भी नहीं करना पड़ता था। रेलवे आरक्षण केंद्र कुछ दिनों तक तो डाकघर में व्यवस्थित रूप से संचालित हुआ। उसके बाद इसे नए सिरे से आरंभ कराने के लिए कोई पहल ही नहीं हो रही है। सूत्रों के मुताबिक कर्मचारियों की कमी और इस सेवा के बदले मिलने वाली कम राजस्व को देखते हुए डाक विभाग इस सेवा को आरंभ कराने उत्साहित नजर नहीं आ रहा है। दूसरी ओर डाक प्रबंधन का दावा है कि रेलवे आरक्षण के लिए आनलाइन सिस्टम का उपयोग किया जाता है। इसके लिए बिश्रामपुर से विशेष लाइन अंबिकापुर तक आई हुई है। इसी लाइन में तकनीकी खराबी के कारण रेलवे आरक्षण सुविधा डाकघर में बाधित है। नए सिरे से रेलवे आरक्षण की सुविधा को बहाल करने की कोशिश की जा रही है।

एक टिकट पर पांच रुपये

डाक विभाग व रेलवे प्रबंधन के बीच रेलवे आरक्षण के लिए जो करार किया गया था, उसके मुताबिक एक टिकट पर डाक विभाग को पांच रुपये का राजस्व निर्धारित किया गया था। वर्तमान समय में इस राशि को अत्यंत कम बताया जा रहा है। एक दिन में 100 टिकट जारी किए जाने की स्थिति में डाक विभाग को 500 रुपये ही मिल सकते हैं। केंद्र में एक कर्मचारी की ड्यूटी लगाए जाने की स्थिति में उसे मिलने वाले वेतन से भी यह राशि कम होती है।

रेलवे स्टेशन में भी है सुविधा

वर्तमान में सरगुजा क्षेत्र के लोगों के लिए अंबिकापुर में रेलवे आरक्षण का दो केंद्र संचालित हो रहा है। कलेक्टोरेट परिसर स्थित ई-सेवा केंद्र के अलावा रेलवे स्टेशन में भी रेलवे आरक्षण की सुविधा उपलब्ध है। अलग-अलग समयावधि में यात्री यहां पहुंचकर रेलवे आरक्षण कराते हैं। डाकघर का रेलवे आरक्षण केंद्र आरंभ हो जाने से बीच शहर में लोगों को सुविधा मिल सकती है।

डाकघर में रेलवे आरक्षण केंद्र को नए सिरे से आरंभ करने प्रयास जारी है। उच्चाधिकारियों के साथ रेलवे प्रशासन से भी पत्राचार चल रहा है। तकनीकी खराबी के कारण यह सुविधा फिलहाल बाधित है। प्रयास किया जा रहा है कि अतिशीघ्र रेलवे आरक्षण की सुविधा उपलब्ध हो जाए।

रजनी तिग्गा

पोस्टमास्टर, मुख्य डाकघर अंबिकापुर