0 विद्युत कंपनी के आदेश में भेदभाव से नाराजगी

0 भू-विस्थापित कर्मी हुए वंचित

कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

विद्युत कंपनी ने वर्कचार्ज पर कार्यरत कर्मियों को जोर का झटका धीरे से दिया है। सिर्फ अनुकंपा नियुक्ति के आधार पर कार्य कर रहे कर्मियों को नए वेतनमान का लाभ मिलेगा, जबकि भू-विस्थापित कर्मियों को इससे वंचित रखा गया है।

पावर प्लांट में कार्यरत कर्मियों पर प्रबंधन भेदभाव की नीति अपना रही है। पहले नियमित कर्मियों का वेतनमान लागू कर दिया गया, जबकि इनके साथ ही कार्यरत वर्कचार्ज कर्मियों को नए वेतनमान से वंचित रखा गया। इसमें भू-विस्थापित तथा अनुकंपा आधार पर नियुक्ति प्राप्त कर्मी शामिल हैं। इन कर्मियों ने नए वेतनमान को लेकर प्रबंधन के समक्ष कई बार अपनी मांग रखी। इसके साथ ही पिछले दिनों बीएमएस के बैनर तले इन कर्मियों ने आंदोलन किया। इस पर प्रबंधन ने आश्वस्त किया कि जल्द ही आदेश जारी कर दिए जाएंगे। होल्डिंग कंपनी के जनरल मैनेजर (एचआर) ने आदेश जारी कर वर्कचार्ज कर्मियों को नया वेतनमान का लाभ देने कहा है। आदेश के मुताबिक अनुकंपा नियुक्ति के आधार पर जिन कर्मियों की नौकरी लगी है, उन्हीं कर्मियों को नए वेतनमान का लाभ मिलेगा, जबकि पावर प्लांट में भू-विस्थापित कामगार भी वर्कचार्ज के पद पर कार्यरत हैं। इन कर्मियों को फिलहाल नए वेतनमान का लाभ नहीं मिलेगा। इससे कर्मचारी अपने आपको छला हुआ महसूस कर रहे हैं। आंदोलन की वजह से 15 दिन का वेतन भी भू-विस्थापित कामगारों का कट गया, पर उन्हें बढ़े हुए वेतनमान का लाभ नहीं मिल सका। प्रबंधन की भेदभाव नीति से कर्मियों में नाराजगी व्याप्त हो गई है। कर्मियों का कहना है कि प्रबंधन जानबूझकर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। जल्द ही समस्या का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जाएगा।

अप्रैल 2014 से पहले की भर्ती

विद्युत कंपनी से जारी आदेश के मुताबिक उन्हीं वर्कचार्ज कर्मियों को नए वेतनमान का लाभ मिलेगा, जिन्हें अप्रैल 2014 से अनुकंपा नियुक्ति मिली है और नियमित होकर काम कर रहे हैं। बाद वाले कर्मियों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। नए वेतनमान की गणना अप्रैल 2014 से तथा अप्रैल 2016 के आधार पर होगी, यानि बिजलीकर्मियों को पहले जैसा वेतनमान मिला था, उसी तरह इन कर्मियों को भी इसका लाभ जून के वेतनमान के साथ मिलेगा।