सकरी। नईदुनिया न्यूज

गर्मी के समय में वैसे भी लोग पेयजल की समस्या से परेशान रहते हैं। वहीं विद्युत वितरण कंपनी की उदासीनता के चलते उन्हे एक किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ रहा है। खराब ट्रासंफार्मर लगाने का ग्रामीणों ने आरोप लगाया है। वहीं कंपनी के अधिकारी सुध नहीं ले रहे हैं।

तखतपुर विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत सकर्रा के आवासपारा में लगभग दो हजार लोग निवास करते हैं। यहां पेयजल की सुविधा के नाम पर तीन बोर है जिससे निस्तारी करते हैं लेकिन बीते एक पखवाड़े से मोहल्ले में दो बार ट्रांसफार्मर जल चुका है। इसके कारण ग्रामीणों को एक किलोमीटर दूर से पानी लाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक आवासपारा में विद्युत वितरण कंपनी द्वारा 63 केबी का ट्रांसफार्मर लगाया गया है जो कि विगत पद्रंह दिनों पहले ही जल गया। कंपनी के अधिकारी से शिकायत के चार दिन बाद दोबारा ट्रांसफार्मर लगवाया गया जो कि तीन दिन बाद दोबारा फिर से खराब हो गया जो अभी तक नहीं बना है। इसके कारण यहां बोर नहीं चल रहा है और पीने के लिए पानी की समस्या है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि बार-बार रिपेयरिंग हुए ट्रांसफार्मर को यहां लगाया जाता है जो कि दो-तीन दिन में ही जल जा रहा है और ग्रामीणों को परेशान होना पड़ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक यहां सिर्फ बोर के माध्यम से ही पानी मिलता है। यहां पीएचई विभाग द्वारा लगाए गए हैंडपम्प सूख चुके हैं। वहीं पानी के लिए पीएचई विभाग से भी गुहार लगाई गई लेकिन विभाग द्वारा हैंडपंपो में सिर्फ दस पाइप तक ही लगाने की बात कही जाती है जबकि जलस्तर उससे अधिक नीचे जा चुका है। ऐसे में बिजली कंपनी के अधिकारियों की असंवेदनशीलता से ग्रामीणों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है।

कई बार लोड बढ़ाने लगाई गई गुहार

सकर्रा के सरपंच प्रतिनिधि नवीन कौशिक एवं मनीष श्रीवास ने बताया कि आवासपारा के ट्रांसफार्मर का 63 केबी का है इसे बढ़ाकर 100 केबी का नया ट्रांसफार्मर लगाने के लिए कई बार विद्युत विभाग के पास लिखित में गुहार लगायी जा चुकी है। चूंकि उक्त ट्रांसफार्मर से शासकीय बोर सहित आसपास का कनेक्शन एवं प्रायवेट बोर का भी कनेक्शन है। इसके कारण बिजली की खपत ज्यादा है लेकिन विभाग द्वारा ग्रामीणों की मांग को दरकिनार कर दिया गया है।

आवासपारा के सभी परेशान

गृहणी राजकुमारी यादव ने बताया कि 15 दिन से पानी लाने के लिए एक किलोमीटर दूर जाना पड़ता है बहुत ज्यादा तकलीफ है। आवासपारा के सभी परेशान हैं।

टाटा मैजिक से लाते हैं पानी

दिलीप कुमार ने बताया कि बोर नहीं चलने के कारण पानी के लिए दूर जाना पड़ता है। दूरी अधिक होने के कारण कई दिन तक आपस में पैसे एकत्रित कर टाटा मैजिक में बर्तनों को भरकर पानी लाने को मजबूर है।

समाधान नहीं निकला

हेमचंद यादव ने बताया कि हैंडपंप भी बंद है,बोर बंद है ऐसे में पीने के पानी की काफी समस्या आ रही है। अधिकारियों से गुहार लगा-लगाकर थक गए हैं। अब तक कोई समाधान नहीं निकला है।

ग्राम सकर्रा में दुर्भाग्य से दो बार ट्रांसफार्मर जले हैं लेकिन हर बार स्टोर से नया ट्रांसफार्मर दिया गया है। शुक्रवार तक नया ट्रांसफार्मर लगा दिया जाएगा।

- एके दिव्य, ,जेई, बिजली वितरण कंपनी, चकरभाठा