- गांव-गांव पहुंच कलेक्टर लोगों को कर रही जागरूक

फोटो 19 बालोद 20

बालोद। नईदुनिया न्यूज

वर्तमान समय में लगातार जल स्तर घटता चला जा रहा है, हमें किसी भी तरह इसे हर हाल में बचाना है। आने वाली पीढ़ी को जल संकट का सामना न करना पड़े इसे लेकर सरकार भी गहन चिंतन में डूबने के साथ ही जल संग्रहण किए जाने के लिए अथक प्रयासरत है। बालोद जिले के तालाबों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में हमें किसी भी कीमत पर जल संग्रहण करने के लिए विशेष रूपरेखा तैयार करनी है। जिसके लिए मुझे आप सब के सहयोग की जरूरत है ताकि हम सब मिलकर सरकार की सोच के अनुरूप काम कर सके उक्त बातें कलेक्टर रानू साहू ने जिला पंचायत के सभागार में जिला पंचायत अध्यक्ष सहित मौजूद सभी जनपद सदस्यों से कहीं।

उल्लेखनीय है कि राज्यभर के कलेक्टरों की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गिरते जल स्तर पर गहन चिंतन व्यक्त करने के साथ ही समस्त कलेक्टरों को जल संग्रहण हेतु दिशा निर्देश दिए थे जिसके बाद से ही बालोद कलेक्टर रानू साहू द्वारा सभी ब्लाक मुख्यालयों के जनपद अधिकारियों को निर्देशित कर ग्रामीण क्षेत्रों में वाटर हार्वेस्टिंग को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है तथा पेयजल व्यवस्था की चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था करने के कारण चलते हल्की-फुल्की पानी की किल्लत रही परंतु ज्यादातर जिले वासियों को पेयजल व्यवस्था के लिए गंभीर तरीके से सामना नहीं करना पड;ा इसी तारतम्य में कलेक्टर रानू साहू ने जिला पंचायत अध्यक्ष सहित जनपद पदाधिकारियों की बैठक आहूत कर समस्या सुनने के साथ ही जल संग्रहण को लेकर विशेष चर्चा की ज्ञात हो कि आचार संहिता समाप्त होने के बाद जिला पंचायत के सभागार में कलेक्टर रानू साहू ने जिला पंचायत अध्यक्ष सहित सभी जनपद प्रतिनिधियों से मुलाकात करने हेतु बैठक आहूत की थी जहां परिचय के उपरांत कलेक्टर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं पर चर्चा की जिस पर जनपद सदस्यों ने अपने अपने क्षेत्र में समस्याओं के साथ-साथ पेयजल तथा स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर विशेष ध्यान केंद्रित कराया कलेक्टर ने भी बैठक के दौरान छत्तीसगढ; शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं के साथ-साथ अन्य योजनाए ग्रामीण क्षेत्र में अधिक से अधिक लोगों को लाभ पहुंचाए जाने के लिए निवेदन किया ज्ञात रहे कि जिला पंचायत के सभागार में सभी जनपद सदस्यों के साथ किसी कलेक्टर द्वारा भोजन करने के साथ ही ग्रामीण विषयों पर चर्चा तथा सरकार की योजनाओं को लागू करने के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष सहित जनपद सदस्यों से इस तरह की चर्चा करने का यह पहला मामला है कलेक्टर द्वारा जनप्रतिनिधियों का इस तरह से सम्मान करने के साथ ही योजनाओं को साकार रूप दिलाने की योजना तैयार करने का यह पहला मामला है।

-----------