बालोद। नईदुनिया न्यूज

लोकसभा चुनाव 2019 में 100 फीसद मतदान के लिए जिले एवं राज्य को नंबर वन बनाने के लिए साइकिल से जागरूकता रैली निकाली गई। जिसमें दल्लीराजहरा के ग्रीन कमांडो वीरेंद्र सिंग और देवरी के पर्यावरण प्रेमी भोज साहू सहित उनके साथी व अन्य लोगों ने बालोद शहर सहित आसपास के गांव में साइकिल चलाकर लोगों को मतदान के लिए प्रेरित कर रहे है। इस दौरान वे खेत खलिहान में भी पहुंचे और मजदूरों को मतदान के दिन उत्सव मनाते हुए वोटिंग करने की अपील की गई ग्रामीणों को दोनों पर्यावरण प्रेमी ने मतदान का महत्व समझाया और कहा कि इस लोकसभा चुनाव के जरिए ही हम अपना सांसद चुनकर देश का प्रधानमंत्री तय करते हैं। इसलिए मतदान करने जरूर जाना चाहिए इसके पहले भी विधानसभा चुनाव के दौरान 100 फीसदी मतदान के लिए इन दोनों युवाओं ने कालेज आईटीआई स्कूल व गांव में जाकर रैली नुक्कड़ नाटक व मोबाइल मैसेज के माध्यम से सभी को जागरूक करने का अभियान चलाया था इसके अलावा पर्यावरण प्रेमी भोज साहू ने तो अनूठी पहल करते हुए मतदान के लिए अपने गांव में जाने वाले पहले मतदाता और आखरी मतदाता का थाल सजाकर दीपक आरती करके स्वागत सम्मान किया था ताकि लोगों को मतदान के लिए खासतौर से प्रेरित किया जा सके लगातार दोनों युवक जिले में विभिन्न इलाकों में जाकर लोगों को मतदान के लिए प्रेरित कर रहे हैं उनका मकसद है कि एक भी मतदाता का मतदान व्यर्थ ना जाए वह घर में बैठकर ना रह पाए और अपने मताधिकार का पूरा इस्तेमाल करें ताकि हमारा लोकतंत्र मजबूत हो।

अन्य जिलों में भी चलाएंगे जागरूकता अभियान

दोनों युवकों ने कहा कि हमारा उद्देश्य बालोद के साथ-साथ दुर्ग बेमेतरा कांकेर राजनादगांव धमतरी में भी जाकर लोगों को लोकसभा चुनाव 2019 के लिए मतदान के लिए प्रेरित करना है, इसकी तैयारी भी चल रही है। युवाओं की इस पहल से प्रेरित होकर अन्य युवा और नागरिक भी उन से जुड़ते जा रहे हैं और इस अभियान को सफल बनाने में जुटे हुए हैं। 2007 में साइकल से ही वीरेंद्र ने की थी भारत की यात्रा। गौरतलब है कि ग्रीन कमांडो के नाम से चर्चित वीरेंद्र सिंह द्वारा कई सालों से पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काम किया जा रहा है, इस उद्देश्य को लेकर उन्होंने 2007 में दुर्ग से नेपाल तक 2008 रायपुर से कन्याकुमारी बाघा बॉर्डर तक हजारों किलोमीटर की साइकिल यात्रा कर के लोगों को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया था। समय-समय पर विभिन्ना आयोजनों के जरिए लोगों को जन जागरूकता फैलाने का काम करते रहते हैं। सिर्फ पर्यावरण दिवस पर ही नहीं बल्कि इनका प्रोत्साहन का कार्यक्रम 12 महीने चलता रहता है।

'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' पर भी कर रहे काम

गौरतलब है कि दोनों पर्यावरण प्रेमी भोज साहू और ग्रीन कमांडो वीरेंद्र सिंग जिले में 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' थीम पर भी काम कर रहे हैं। भोज ने तीन बेटियों को गोद लेकर अपने खर्चे से पढ़ाना भी शुरू किया है। इसके अलावा अपने गांव सहित आसपास के गांव में दो बेटियों के बाद या एक बेटियों के बाद परिवार नियोजन करवाने वाली महिलाओं का सम्मान भी करते हैं ताकि बेटी बेटा का फर्क समाज में दूर हो और लोग उन्हें समानता की नजर से देखें अपने अनूठे और अच्छे कार्यों के कारण दोनों युवकों को जिला प्रशासन राज्य सरकार सहित कई मंचों में प्रशस्ति पत्र और विशिष्ट सम्मान भी मिल चुका है।