बालोद। नईदुनिया न्यूज

जिला मुख्यालय बालोद के 12 निगरानी शुदा बदमाश, माफी बदमाश के साथ-साथ आदतन अपराधी को तत्काल गिरफ्तार किए जाने के साथ ही कड़ी कार्यवाही की जाए। इस तरह के बदमाशों को लेकर यदि कोई अप्रोच करता है तो उसे भी अपराधिक श्रृंखला का एक कड़ी मानते हुए उस पर भी कार्यवाही की जाए। होली के दौरान मुझे मेरे जिले में कोई भी हुड़दंग, अभद्रता पूर्वक कीचड़ वाली होली जैसी घटना नहीं चाहिए। उक्त बातें जिला पुलिस अधीक्षक एमएल कोटवानी ने जिले भर के समस्त थाना प्रभारियों की बैठक आहूत में कहीं।

उन्होंने सभी थाना प्रभारियों से कहा कि कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए तेज रफ्तार वाहन तीन सवारी वाहन तथा शराब पीकर वाहन चलाने वालों के ऊपर कड़ी कार्यवाही की जाने ही हिदायत दी हैे। इसके साथ ही एसपी ने चार-चार लोगों की छः टीमों का गठन किया है जो लगातार नगर भ्रमण करने के साथ ही उन लोगों पर नजर रखेगी, जो आने जाने वाले लोगों के साथ-साथ जोर जबरदस्ती कर रंग लगाएंगे। एसपी के आदेश के बाद जिले भर के समस्त थाना प्रभारियों के साथ-साथ यातायात विभाग का अमला मुस्तैदी से नगर के प्रत्येक चौक-चौराहों पर तैनात हो गया है तथा प्रत्येक आने जाने वाले वाहनों पर अपनी पैनी नजर रखे हुए हैं

वाहन जब्ती की होगी कार्यवाही

इसके साथ ही एसपी ने निर्देश दिए हैं कि शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने के साथ ही वाहन जब्ती की भी कार्यवाही की जाए तथा आवश्यकता पड़ने पर लाइसेंस निरस्त करने से भी पीछे ना हटे। पुलिस कप्तान के आदेश के बाद शराब पीकर वाहन चलाने वालों के जांच पड़ताल के लिए यातायात विभाग को 10 से अधिक माउथ एनॉलाइजर प्रदान किए गए हैं, जो वाहन चालकों के मुंह के पास जाते ही उनके द्वारा ग्रहण की गई अल्कोहल की मात्रा को स्क्रीन पर दर्शा देगा। यातायात विभाग द्वारा शराब मापी यंत्र का इस्तेमाल किए जाने से हुड़दंगियों को अपनी होली जहां फीकी लगने लगी है, तो वहीं आम जनता पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राहत महसूस कर रही हैे।

एसपी ने लोगों से की अपील, विवाद से बचे

नगर की कानून व्यवस्था को चाक चौबंध करने के उपरांत एसपी एमएल कोटवानी ने आठ-आठ लोगों की दो टीम अलग से गठित की है। जो हथियारों से लैस होकर कंट्रोल रूम में तैनात रहेगी तथा कहीं भी विषम परिस्थिति होने पर चंद मिनटों के अंदर ही मौके पर पहुंचकर नियमानुसार कार्यवाही करेगी। एसपी ने कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए जहां जवानों को कड़ी कार्यवाही की अनुमति प्रदान की है तो वहीं जिलेवासियों से भी निवेदन किया है कि होली का त्योहार मित्रता का त्योहार है ऐसी स्थिति में सभी से मित्रवत व्यवहार किया जाना चाहिए तथा ऐसा कोई काम नहीं किया जाना चाहिए जिससे किसी को नुकसान हो या विवाद की स्थिति बने।