दल्लीराजहरा।नईदुनिया न्यूज

भारतीय नववर्ष के आयोजन अथवा मनाने को लेकर सर्व समाज समरसता समिति की बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिए गया कि भारतीय नव वर्ष आयोजन हेतु स्थानीय प्रशासन से मुलाकात कर नगर के सभी चौक-चौराहों पर केसरिया ध्वज, तोरण पताका तथा ध्वनि विस्तार यंत्रों के उपयोग के लिए अनुमति हेतु उन्हे आवेदन पत्र दिया गया। जिसकी सहमति आना अभी बाकी है। इस बार भारतीय नववर्ष को उत्सव का स्वरूप देने का निर्णय समिति द्वारा लिया गया है। जिसके तहत भारतीय नववर्ष के आयोजन को तीन दिवसीय बनाने का प्रयास किया जाएगा। जो इस प्रकार से होगा। पहले दिन चार अप्रैल को शाम चार बजे बजे बाइक रैली एवं शाम छह बजे नगर के प्रमुख तीन चौराहों पर सामूहिक दीपदान कर नववर्ष का अभिनंदन किया जाएगा।

दूसरे दिन पांच अप्रैल को शाम छह बजे नगर के सभी 27 वार्डो में वार्डवासियों को लेकर एक साथ भारत माता की पूजा एवं सामूहिक आरती किया जाएगा। वार्डवासियों के माध्यम से दीपदान कर वार्ड को आलोकित किया जाएगा तथा छह अप्रैल के मुख्य आयोजन में नगरवासियों को प्रेरितकर सम्मिलित होने के लिए सभी वार्डवासियों को संकल्प दिलाया जाएगा। तीसरे दिन छह अप्रैल को दोपहर दो बजे से जलाराम वाटिका से विशाल शोभायात्रा का शुभारंभ किया जाएगा। जो विभिन्ना मार्गो से होते हुए वापस जलाराम वाटिका में आकर सभा के रूप में परिवर्तित हो जाएगा। सभा स्थल में उपस्थित जनसमुदाय के द्वारा 201 थालियों से भारत माता की सामूहिक आरती किया जाएगा। तत्पश्चात सफाई कर्मियों एवं भूतपूर्व सैनिकों का सम्मान किया जाएगा।

भारतीय नववर्ष की रैली एवं शोभायात्रा में इस बार कुछ सांस्कृतिक झलकियां भी प्रस्तुत करने का निर्णय लिया गया है। जिसके संबंधितों से संपर्क कर तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है। बैठक में प्रमुख रूप से समिति के अध्यक्ष पवन कुमार गंगबोईर, अशोक लोहिया, सत्या साहू, झसकेतन, विसी, वीणा साहू, श्रीजीत, सौरभ जैन, संतोष यादव, मुकेश अग्रवाल, द्रौपती साहू, नंदा पसीने, गीताजंली धंडाले, बसंती नारडे, नवीन कुमार साहू, गजाधर सहित समाज के अनेक लोग उपस्थित थे।