रांका/बेमेतरा। नईदुनिया न्यूज

रायपुर एनएच 30 में मंगलवार बिती रात ग्राम कठिया तालाब के पास अनियंत्रित मोड़ में बाइक सवार दो युवक सड़क किनारे लगे डिवाइडर में टकरा गए। जिससे घटनास्थल में ही चालक की मौत हो गई। वहीं पीछे बैठा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे उपचार के लिए सिमगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया। घटना रात 10 बजे की है। जानकारी के अनुसार ग्राम छीतापार निवासी ज्ञानदास पुरैना (मृतक) पिता बोधीदास (28) अपने ससुराल सरोरा गया हुआ था। जहां से वापस अपने साथी मोहन सतनामी के साथ घर लौट रहा था। इस दौरान ग्राम कठिया तालाब मोड़ के पास अनियंत्रित होकर विपरित दिशा में सड़क किनारे लगे डिवाइडर से टकरा गया। घटना में बाइक चालक ज्ञानदास की मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणो की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को जिला अस्पताल बेमेतरा भेजा। बुधवार सुबह पोष्टमार्टम के बाद शव परिजनो को सौप दिया गया। बीते 6 महीने में आधा दर्जन से अधिक लोगो की मौत सड़क हादसे में हो चुकी है।

मृतक की सास ने कहा मना किया फिर भी नहीं माना

मृतक ज्ञानदास पुरैना की सास पुष्पा ने बताया कि रात अधिक हो जाने के कारण मना कर रात वहीं ठहर जाने के लिए कहा, लेकिन मृतक ज्ञानदास नहीं माना। जहां एक घंटे बाद उनकी मौत की खबर आ गई। इधर मृतक के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

गुड़ फैक्ट्री में काम करता था मृतक

मृतक ज्ञानदास पुरैना गुड़ फैक्ट्री में मजदूरी का काम करता था। उनके दो बधो है एक तीन साल की लड़की। वहीं दूसरा छह महीने का पुत्र है।

दुर्घटना होने के प्रमुख कारण

सिमगा से कवर्धा तक एनएच में सड़क निर्माण तो पूर्ण हो चुका है, लेकिन सड़क किनारे बसे गांव में लगाएं गए स्ट्रीट लाइट निर्माण के दो साल बीत जाने के बाद भी नहीं चालू की गई है। जिससे वाहन चालक रात के अंधेरे में पशुओं या सामने से आ रही वाहने से टकरा जाने के कारण दुर्घटना के शिकार हो रहे है और मौत के मुंह में समा रहे है। इसको लेकर न तो पुलिस प्रशासन गंभीर है और न ही एनएच के अधिकारी गंभीरता दिखा रहे है। जिसका खामियाजा वाहन चालको को भुगतना पड़ रहा है।