देवकर/मोहगांव। नईदुनिया न्यूज

नगर समीपवर्ती ग्राम मोहगांव में इन दिनों विगत छत्तीसगढ़ सरकार के बजट से साजा ब्लॉक में कृषि महाविद्यालय की सौगात मिलने से कृषि मंत्री व क्षेत्रीय विधायक रविन्द्र चौबे के गृहग्राम मोहगांव (मौहभाठा) में इन दिनों अंचल के आमजनों चर्चा काफी जोरों पर है।

विदित हो कि विकासखंड साजा अंतर्गत व नगर निकट ग्राम मोहगांव (मौहभाठा) आसपास के तकरीबन 12 गांवों का केंद्र है। वहीं यह नगर पंचायत क्षेत्र साजा, देवकर व परपोड़ी के मध्य में स्थित है। इसके अलावा यह क्षेत्रीय जननायक व कृषि मंत्री रविंद्र चौबे जी का गृहग्राम होने से उत्सुकता और भी जोरों ओर है। असल फैक्टर यहां पहले से क्षेत्र में एकलौता उधातर माध्यमिक विद्यालय है। जहां विगत कई वर्षों से कृषि (एग्रीकल्चर) विषय की पढाई हो रही है। वहीं लगे मौहभाठा में 200 एकड़ सरकारी जमीन है, जहां पर शासकीय बीज परगुणन केंद्र संचालित है।

उल्लेखनीय है मौहभाठा के इस बीज प्रगुणन केंद्र में कई प्रकार के फसलों की बीजों का उचित किस्म तैयार किया जाता है!वही बीजों को फसलों के लिए उचित वातावरण के साथ तैयार कर भण्डारण भी किया जाता है!इन्ही बीजों से इसके अंदर 200 एकड़ एरिया में उन्नात कृषि को तरजीह देकर लगातार खेती की जा रही है। हर वर्ष पूरे ब्लॉक भर से छात्र मोहगांव के शासकीय विद्यालय से कृषि विभाग की पढ़ाई करने पहुंचते है। फिर आगे महाविद्यालय की पढ़ाई के लिए बेमेतरा या अन्य जगह को जाते है। जिसमें काफी असुविधा व दिक्कत स्थानीय क्षेत्रवासियों को हो रही थी। किन्तु विगत दिनों छत्तीसगढ़ सरकार की बजट में साजा ब्लॉक को कृषि महाविद्यालय का तोहफा मिलने से क्षेत्रवासियों व अंचलवासियों में खुशी व उत्सुकता का कोई ठिकाना नही है!इसका असर यह है कि मोहगांव के आसपास बेल्ट के 10-12 गावों में जबरदस्त चर्चा का बाजार गर्म है। हर कोई मोहगांव (मौहभाठा) में कृषि महाविद्यालय के खुलने पर आश्वस्त नर आ रहा है। साथ ही कृषि की पढ़ाई कर रहे विद्यालय के छात्रों के लिए भी एक नई आशा की किरण जगी है। अब उन्हें कॉलेज स्तर की पढ़ाई के लिए यहां वहां भटकना नहीं पड़ेगा। साथ ही मौहभाठा में करीब 200 एकड़ के दायरे में फैले शासकीय बीज प्रगुणन केंद्र भी चर्चाओं के केंद्र में है। इस प्रकार मोहगांव समीप मौहभाठा,देऊरगांव, बासीन, भोजेपारा, बुधवारा, सिघनपुरी, अतरझोला, तेंदुभाठा, काँचरी, गाधाभाठा, कोहकाबोड, इत्यादि गांवों में काफी जोर पकड़ने लगीं है।