बेमेतरा । बुधवार को कबीरधाम व बेमेतरा पुलिस ने अंतरराज्यीय चोर गिरोह पकड़ा है। पकड़े गए आरोपित में पश्चिम बंगाल के निवासी भी है। ये गिरोह बेमेतरा व कवर्धा में चोरी की घटना को अंजाम दिया था। दोनों जिलों के पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में छह आरोपित पकड़े गए है।

पुलिस अधीक्षक कबीरधाम डॉ.लाल उमेंद सिह व बेमेतरा एसपी प्रशांत ठाकुर ने बताया कि तकनीकी टीम की विशेष तत्परता से अज्ञात आरोपियों की पतासाजी का हरसंभव प्रयास किया जा रहा था। थाना से गठित टीम एवं तकनीकी टीम के द्वारा लगातार अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए घटनास्थल और उसके आसपास के क्षेत्रों में लगातार निगाह रखी जा रही थी।

आरोपियों के द्वारा कवर्धा शहर के सुने इलाकों का चयन कर कई दिनों से बंद एवं सुने मकानों में चोरी की अपराध गठित की जा रही थी। जिस पर टीम के द्वारा उक्त इलाकों में निवासरत लोगों से अज्ञात चोरो के बारे में जानकारी प्राप्त करने का प्रयास किया जा रहा था।

पूर्व में चोरी के अपराध में संलिप्त व्यक्तियों से भी घटना के संबंध में पूछताछ किया गया। जिनसे किसी भी प्रकार की उचित जानकारी प्राप्त नहीं होने पर दीगर जिला से भी कवर्धा शहर में हो रही घटनाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त किया गया। जिस पर सरहदी जिला बेमेतरा, मुंगेली , बिलासपुर में भी अज्ञात आरोपियों द्वारा की गई वारदात तरीके एवं कवर्धा शहर के अपराध के तरीके में समानता पाये जाने से जिला कबीरधाम से गठित टीम को उक्त जिला में विष्लेषण हेतु भेजा गया।

बर्तन बेचने का करते थे काम, इस तरह पकड़े गए

घटना में संलिप्ता होने की आंशका पर टीम के द्वारा आरोपियों की पता तलाश के लिए कबीरधाम-बेमेतरा की संयुक्त टीम गठित की जाकर घटना दिनांक और उसके पूर्व शहर में आए बाहरी व्यक्तियों के बारे में घटनास्थल एवं आसपास क्षेत्रों में बारिकी से पुछताछ की जाने लगी, कि इसी दौरान मुखबिर द्वारा जानकारी दिया गया कि करीब माह भर पूर्व क्षेत्र में पश्चिम बंगाल के निवासी बर्तन बेचने के व्यापार के लिए आकर शहर स्थित किराये के मकान में निवासरत थे।

इसी आधार पर टीम द्वारा उन व्यक्तियों की पतासाजी का प्रयास करने लगे, जांच में कड़ी के दौरान मुखबिर के बताये गए हुलिया एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के आधार पर बाहरी व्यक्ति बेमेतरा में निवासरत होने की जानकारी प्राप्त हुई। जिस पर पुलिस अधीक्षक कबीरधाम द्वारा थाना कवर्धा से गठित टीम और जिला बेमेतरा की टीम को साथ में लेकर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए निर्देशित किया गया।

बेमेतरा से पकड़ा गया, लाखों का समान बरामद

गठित संयुक्त टीम द्वारा बाहरी व्यक्तियों की जानकारी प्राप्त करने लगे। इसी दौरान कुछ बाहरी व्यक्तियों का बेमेतरा शहर में निवासरत् होने की जानकारी प्राप्त हुई। जिस पर जिला कबीरधाम एवं बेमेतरा की संयुक्त टीम द्वारा उनके रहने के स्थान की जानकारी प्राप्त कर मौके पर दबिश दिया गया। जहां पर छह व्यक्ति मौजूद मिले। जिनसे पूछताछ करने पर अपना नाम जियामंडल उर्फ कंफू पिता रषीद मंडल (27) निवासी गायेसपुर थाना मंगलवाड़ी जिला मालदा पश्चिम बंगाल, मो. सुमन खान पिता मो. सलाम खान (18) निवासी छापुकुर पश्चिम बंगाल, मो. मकशुद अली उर्फ कालू पिता मो. अलमस अली (29) निवासी सोनाबली थाना बोतावरा जिला संबलपुर, ओडिशा), सोहेल खान पिता उजीर शेख (25) निवासी कुमरगंज थाना गंगारामपुर जिला दक्षिण दिनाजपुर पश्चिम बंगाल , मो. अब्दुल रहीम शेख पिता साबिद अली समेत अन्य आरोपी द्वारा बर्तन का व्यापार करने की बात बताया गया। पुलिस टीम द्वारा उक्त सभी व्यक्तियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर अलग-अलग स्थानो से चोरी करने की बात स्वीकार किया गया। उनके मकान की तलाशी लेने पर घटना में प्रयुक्त हथियार, मोटर साइकिल व सोने-चांदी के जेवर, नगदी रकम 20,000 रुपये प्राप्त हुआ।

राज्य के चार जिलो में चोरी की घटना को दिया है अंजाम

आरोपियों की गिरफ्तारी कर समान जब्त किया है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने दीगर प्रांत पश्चिम बंगाल, ओडिशा और कनार्टक से आकर एकत्र होकर जर्मन बर्तन के व्यापार करने के नाम से क्षेत्र में रहकर जिला कबीरधाम में तीन जगह, जिला बेमेतरा में पांच स्थान, जिला मुंगेली में एक स्थान एवं जिला बिलासपुर दो स्थानों में रहकर चोरी करने का अपराध स्वीकार किया गया है।

घटना में अन्य छह बांग्लादेशी लोगों की भी संलिप्ता बताई गई है। जिनके साथ सम्मिलित होकर विभिन्ना जिलों में चोरी किया गया। घटना में सम्मिलित फरार छह आरोपियों की पता तलाश जारी है। जिनके द्वारा अन्य जिला में भी चोरी की घटनाओं का अंजाम दिए जाने की आशंका है।