रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय में चल रही वार्षिक परीक्षा में नकल थमने का नाम नहीं ले रही है। शुक्रवार को एक दिलचस्प मामला सरकारी आरएनएम कॉलेज भटगांव का आया। रविवि के कुलसचिव डॉ. गिरीशकांत पाण्डेय को शिकायत मिली कि यहां पर प्राइवेट परीक्षार्थी दादागिरी कर रहे हैं, वे जबरन नकल कर रहे हैं। इस पर डॉ. पाण्डेय ने सक्रियता दिखाई । उन्होंने बलौदाबाजार के एसपी को जानकारी देकर वहां पुलिस बल की व्यवस्था कराई और खुद कॉलेज की ओर रवाना हो गये। कुलसचिव ने अपने फ्लाइंग स्क्वाड के साथ बीए प्रथम वर्ष के पांच छात्रों नकल करते पकड़ा। सभी के खिलाफ नकल प्रकरण भी दर्ज किया।

खुलेआम गाइड लेकर पहुंच रहे परीक्षा हॉल

बताया जाता है कि परीक्षार्थी खुलेआम गाइड लेकर परीक्षा हॉल तक पहुंच रहे हैं। उन्हें न तो पर्यवेक्षक रोक पा रहे हैं और न ही कॉलेज के केंद्राध्यक्ष लगाम लगा पा रहे हैं। इसी साल विवि में 300 से अधिक नकल प्रकरण आ चुके हैं। विवि के कुलपति डॉ. केशरीलाल वर्मा ने परीक्षा से पहले दावा किया था कि सभी कॉलेजों में सीसीटीवी कैमरा लगाकर निगरानी की जाएगी, लेकिन यह दावा कॉलेजों में पूरा होता नजर नहीं आ रहा है।

75 नकल प्रकरण इसी कॉलेज से

रविवि की वार्षिक परीक्षा में अभी तक अकेले सरकारी आरएनएम कॉलेज भटगांव से ही 75 नकल प्रकरण दर्ज हो चुके हैं। बताया जाता है कि यहां पर प्राइवेट परीक्षार्थियों का केंद्र बनाया गया है। ये विद्यार्थी कुंजी और गाइड लेकर जबरन परीक्षा हॉल में घुस रहे हैं। विवि को लगातार शिकायत मिल रही थी कि इस कॉलेज में नकल प्रकरण आ रहे हैं। इसलिए कुछ दिन पहले से औचक फ्लाइंग स्क्वाड भेजना शुरू कर दिया था। जब नकल प्रकरण नहीं थमा तो तब पुलिस बल बढ़ाया गया।

अब केंद्र को भी खतरा, केंद्राध्यक्ष से विवि करेगा जवाब-तलब

लगातार नकल प्रकरण सामने आने के बाद विवि ने अब इस कॉलेज को केंद्र नहीं बनाने का निर्णय लिया है। कॉलेज प्रबंधन से भी जवाब-तलब किया जाएगा। बताया जाता है कि इस कॉलेज के परीक्षार्थियों की कॉपियों को भी ट्रेस किया जाएगा। यदि किसी कुंजी या गाइड से हूबहू लिखा हुआ कंटेंट मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी। बताया जाता है कि भटगांव कॉलेज में परीक्षा की शुरुआत से ही नकल प्रकरण सामने आ रहे थे।

सेमेस्टर परीक्षाओं के परिणाम आए, अंकसूची नहीं

रविवि की कई सेमेस्टर परीक्षाओं के परिणाम आने के एक महीने बाद भी अंकसूची नहीं मिली है। इससे परीक्षार्थी परेशान हो रहे हैं। विवि प्रबंधन का कहना है कि अंकसूची समय-समय पर भेज रहे हैं। आने में थोड़ा समय लग जाता है।

वर्जन

जानकारी ले रहे हैं

- जानकारी मिली थी कि कॉलेज में नकल चल रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वयं वहां पहुंचा था । परीक्षा में व्यवधान न हो, इसलिए एसपी से सुरक्षा के तौर पर बल मांगनी पड़ी है। कॉलेज को आगे केंद्र बनाया जाए या नहीं इस पर विचार किया जाएगा। फिलहाल केंद्राध्यक्ष से जानकारी ले रहे हैं। - डॉ. गिरीशकांत पाण्डेय, कुलसचिव, पं. रविवि

--------