भिलाई। खुर्सीपार के बापू नगर क्षेत्र में चावल से कच्ची शराब बनाकर बेचने वाली पांच महिलाओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। महिलाएं कनकी चावल में जंगली बूटी और अन्य पदार्थ डालने के बाद उसे तीन से चार दिनों तक सड़ाकर शराब तैयार करती थी। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने सभी महिलाओं को गिरफ्तार किया है। खुर्सीपार पुलिस ने पांचों महिलाओं के खिलाफ आबकारी एक्ट की धाराओं के तहत कार्रवाई की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार खुर्सीपार पुलिस ने बापू नगर निवासी धरमी महतो (48), चरकी अहिर (30), सुगंधी दास (60), चंपा बहादुर (62) और झारिया यादव (55) को पुलिस ने चावल से शराब तैयार करते हुए पकड़ा। पांचों महिलाओं उसना चावल के कनकी को पकाने के बाद उसमें रानू गोली (जंगली बूटी और चावल के आंटे से तैयार एक पदार्थ) डालते थे। इसके बाद उसे तीन से चार दिनों तक सड़ने के लिए छोड़ देते थे। चार दिनों के भीतर चावल में एल्कोहल का गुण आ जाता था। इसके बाद उक्त शराब को 10 रुपये गिलास के हिसाब से बेचती थी। शराब तैयार करने के दौरान तेज गंध आने से परेशान आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने छापामार कार्रवाई कर आरोपियों को गिरफ्तार किया।

20 रुपये के चावल से 150 की शराब

गिरफ्तार आरोपी महिलाओं ने पुलिस को जानकारी दी कि वे 20 रुपये प्रति किलो की दर से उसना चावल का कनकी खरीदकर लाती थी। उसे तैयार करने पर करीब दो से ढाई लीटर शराब बनती थी। उसे चिल्हर में बेचकर 150 रुपये से ज्यादा की कमाई हो जाती थी। गिरफ्तार सभी महिलाएं मूलतः झारखंड के मनहरपुर गांव की रहने वाली हैं। आरोपियों ने पुलिस को जानकारी दी उनके गांव में इस तरह से शराब बनाना और उसका सेवन करना सामान्य बात है। किसी के परिवार में पुरुष मुखिया नहीं है तो किसी का पति कमाता नहीं है। इस कारण से सभी आरोपी कच्ची शराब तैयार कर उसे बेचती थी।

आसपास के लोगों ने की शिकायत

बापू नगर के आसपास के लोगों ने अवैध रूप से शराब बनाने की शिकायत की। इसके आधार पर पुलिस की टीम ने छापामार कार्रवाई की। सभी आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा के तहत कार्रवाई की जा रही है।

- गोपाल वैश्य, टीआइ खुर्सीपार