दुर्ग। शनिवार दोपहर उरला रेलवे क्रासिंग के पास पटरी पर मिली लाश की पहचान पुलिस ने कर ली है। मृतक गोड़ पारा दुर्ग का रहने वाला है। वे चंडी-शीतला भाजपा मंडल में बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ अभियान के संयोजक थे। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक-6 गोड़ पारा दुर्ग निवासी गैंदलाल साव (58) शनिवार से लापता था। उसने अपने मोबाइल फोन को घर में ही छोड़ दिया था।

पुलिस ने शनिवार दोपहर उरला रेलवे फाटक क्रासिंग के निकट एक क्षत-विक्षत लाश बरामद की थी। शव को मरच्युरी में रखवा दिया था। लावारिस शव मिलने की सूचना पर गैंदलाल के पुत्र सिद्धार्थ ने रविवार को भाजपा नेताओं के साथ मरच्युरी पहुंचकर शव की पहचान की। मृतक गैंदलाल साव बीएसपी कर्मचारी था।

वह भाजपा संगठन से भी जुड़ा हुआ था। वर्तमान में वे चंडी-शीतला भाजपा मंडल में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के संयोजक पद का दायित्व संभाले हुए थे। उनकी पत्नी रेणुका शिक्षिका है। पुत्र सिद्धार्थ साव रायपुर में एक नीजि कंपनी में कार्यरत हैं। एक महीने पहले उसने अपनी पुत्री की शादी की थी। पुलिस इसे आत्महत्या मानकर चल रही है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।