भिलाई/बिलासपुर। दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के बैकुंठपुरधाम मैदान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भिलाई स्टील प्लांट (बीएसपी) के कर्मचारियों को साधने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक उपक्रमों को निजी हाथों में नहीं जाने दिया जाएगा।

बता दें कि सेल की सबसे बड़ी इकाई बीएसपी के कर्मचारी निजीकरण की आशंका जताते हुए विरोध कर रहे हैं। जबकि बिलासपुर में राहुल ने पार्टी के घोषणा पत्र को दोहराया। उनका पूरा भाषण 72 हजार स्र्पये पर ही केंद्रित रहा और वे ये भरोसा दिलाने की कोशिश करते रहे कि 72 हजार स्र्पये देने का वादा हवा-हवाई नहीं है।

भिलाई के बैकुंठधाम मैदान में शनिवार शाम 24 मिनट तक राहुल गांधी ने कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में रैली को संबोधित किया। उन्होंने पब्लिक सेक्टर के हालात का जिक्र करते हुए कहा कि पीएम मोदी इसे निजी हाथों में देना चाहते हैं, लेकिन इसे बिकने और बर्बाद होने नहीं देंगे। किसी पब्लिक सेक्टर की कंपनियों को बंद होने नहीं देंगे।

उन्होंने कर्मचारियों और अधिकारियों के वेतन समझौता का भी जिक्र किया और कहा-इसे हमारी सरकार करके दिखाएगी। उन्होंने कहा कि हमने मन की बात नहीं की। ऐतिहासिक काम शुरू किया है। राहुल ने कहा-जो आप यहां से सुनेंगे। उसे पूरा करना हमारी गारंटी है। इसके अलावा उन्होंने न्याय योजना सहित कांग्रेस के घोषणा पत्र का जिक्र किया साथ ही अनिल अंबानी का नाम लेकर पीएम को भी लपेटा।

बिलासपुर लोकसभा के सकरी में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के घोषणापत्र को ही दोहराते दिखे। राहुल ने कहा कि हजारों करोड़ स्र्पये देश का पैसा लेकर बड़े-बड़े उद्योगपति बाहर चले गए। सरकार ने कुछ नहीं किया। जिस पैसे को उद्योगपतियों ने चुराया वह देश की जनता के थे। मोदी सरकार ने जनता की जेब से पैसा निकालकर उद्योगपतियों को बांटा है। 45 हजार करोड़ नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चौकसी लेकर भाग गए। कांग्रेस की सरकार आई तो ऐसा नहीं होगा।

उन्‍होंने कहा कि हमने जिस न्याय योजना की बात कही है उसके जरिए देश की बैठ चुकी अर्थव्यवस्था को हम एक झटके में पटरी पर ला सकते हैं। इसे देश के चुनिंदा अर्थशास्त्रियों की सलाह पर बनाया गया है। हम हवा हवाई वादे नहीं कर रहे। पीएम मोदी विधानसभा चुनाव के समय पूरे देश में घूम-घूमकर कहते थे कि कर्जमाफी के लिए पैसा कहां से आएगा। वैसे अभी कह रहे हैं 72 हजार के लिए पैसा कहां से आएगा। तब भी जो वादा किया उसे निभाया और अब जो कह रहे हैं,उसे भी पूरा करके दिखाएंगे।

कार्यकर्ता बब्बर शेर, सरकार दरवाजा खोलकर रखे

सकरी की सभा के अंत में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी कार्यकर्ताओं को रिचार्ज कर गए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के कांग्रेसी कार्यकर्ता बब्बर शेर हैं। इन्होंने पचास प्रतिशत मेहनत की तो प्रदेश में दो तिहाई बहुमत आ गई। अगर 80 से 90 प्रतिशत भी मेहनत कर दिए तो प्रदेश की सभी 11 सीटें कांग्रेस की झोली में होंगी।

ये भी कहा

1. सरकार बनी तो छह महीने में गब्बर सिंह टैक्स बदल देंगे

2. एक साल के भीतर 22 लाख युवाओं को नौकरी देंगे

3. किसानों के लिए अलग बजट होगा

4. कांग्रेस के कार्यकर्ता के लिए सरकार के दरवाजे हमेशा खुले रहेंगे

5. नेताओं का काम मन की बात करना नहीं जनता के मन की बात सुनना है