भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

मोबाइल गुम होने या चोरी होने की सिटीजन कॉप मोबाइल एप्लीकेशन एप पर शिकायत करने के बाद सिटीजन कॉप एप की टीम ने कुल 25 नग मोबाइल रिकवर किए। शनिवार को आइजी ऑफिस में सभी शिकायतकर्ताओं को उनका मोबाइल लौटाया गया। इस दौरान दो लोगों ने आइजी को जानकारी दी कि उनसे लूट की घटना हुई थी, लेकिन थाने में उनकी शिकायत नहीं सुनी गई। इसके बाद उन्होंने ने सिटीजन कॉप मोबाइल एप पर इसकी शिकायत की। लूट की घटना की बात सामने आने के बाद आइजी ने दोनों का बयान दर्ज करवाया और नियमानुसार कार्रवाई करने की बात भी कही।

शनिवार को आइजी जीपी सिंह ने आइजी ऑफिस में 25 लोगों को उनके मोबाइल सौंपे। इन लोगों ने मोबाइल चोरी होने या गुम होने की शिकायत सिटीजन कॉप मोबाइल एप्लीकेशन पर की थी। इसके बाद सिटीजन कॉप की टीम ने प्रदेश के विभिन्ना जिलों और अन्य प्रदेशों से मोबाइल को रिकवर किया और सभी के मूल मालिकों को सौंपा। जिन लोगों को उनके मोबाइल वापस मिले, उन्होंने सिटीजन कॉप एप का आभार व्यक्त किया। बता दें कि दुर्ग रेंज में सिटीजन कॉप एप्लीकेशन की शुरुआत होने के बाद से अभी तक करीब 150 से अधिक मोबाइल को रिकवर किया जा चुका है।

ये हुए थे लूट का शिकार

मोबाइल लेने आइजी ऑफिस पहुंचे लोगों में दो लोगों ने आइजी जीपी सिंह को जानकारी दी कि उनके साथ लूट की घटना हुई थी, लेकिन थाने में उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। इसके बाद उन्होंने सिटीजन कॉप एप पर शिकायत की थी। सेक्टर-9 अस्पताल में काम करने वाली नर्स शिव कुमारी ने आइजी को बताया कि वह अस्पताल से दुर्ग जा रही थी। इसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने उसका पर्स लूट लिया था। वह शिकायत करने के लिए सिटी कोतवाली दुर्ग भी गई थी, लेकिन उसे वहां से फरमाइश नालिश देकर वापस भेज दिया गया। पर्स में मोबाइल के अलावा वाहन के दस्तावेज आदि भी थे। इस कारण से उसने शपथ पत्र बनवाकर दोबारा से दस्तावेज बनवाए। वहीं एक अन्य प्रार्थी तूफान लाल ने आइजी जीपी सिंह को बताया कि वह ऑटो चलाता है। दो महीने पहले कोहका चौक के पास उससे लूटपाट हुई थी। उसने इसकी शिकायत स्मृति नगर चौकी में की थी, लेकिन वहां सिर्फ आवेदन लेकर उसे भेज दिया गया।

इन स्थानों से मोबाइल किया गया रिकवर

सिटीजन कॉप एप पर शिकायत के बाद पुलिस की टीम ने रायपुर से तीन, बिलासपुर से दो, मुंगेली से तीन, धमतरी से दो, महासमुंद से दो, राजनांदगांव से एक और प्रदेश के अन्य जिलों से सात मोबाइल रिकवर किए हैं। वहीं प्रदेश के बाहर मध्यप्रदेश के शहडोल से एक, बालाघाट से दो और गोंदिया से दो मोबाइल रिकवर किए गए हैं।

जांच कराई जा रही है

जिन लोगों ने लूट होने की जानकारी दी है। उनके बयान दर्ज कराए गए हैं। संबंधित थाने से शिकायत न दर्ज करने के संबंध में जवाब मांगा जाएगा। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

-जीपी सिंह, आइजी दुर्ग रेंज