भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

भिलाई पॉलीथिन मुक्त शहर बनेगा। इस दिशा में प्रयास भी तेज हो गया है। भिलाई के रुआबांधा एसएलआरएम सेंटर में वेलिंग मशीन लगाई गई है। इस मशीन से 100 किलो के पॉलीथिन का बंडल बन जाएगा।

भिलाई निगम द्वारा इसके लिए पूरा प्लान तैयार किया गया है। अलग-अलग अफसरों की अगुवाई में टीमें बनाई गई है। बजबजाती नालियों से पॉलीथिन साफ करने विशेष गैंग भी तैयार किया गया है, जो नियमित सफाई के अलावा एक निर्धारित क्षेत्र में नालियों, मोहल्लों से पॉलीथिन को इकट्ठा करेगा।

समूह की महिलाएं देखेंगी रद्दी कागज का काम

रद्दी कागज को रिसाइकलिंग करने की कार्य योजना तैयार करने के निर्देश आयुक्त एसके सुंदरानी ने दिए हैं। जिसकी प्लानिंग उपायुक्त लहरे द्वारा की जा रही है। जिसे स्वयं सहायता समूह की महिलाएं संचालित करेंगी।

रुआबांधा में लगी मशीन

स्वच्छता की दिशा में आगे और कदम बढ़ाते हुए भिलाई निगम के तीनों एसएलआरएम सेंटरों के लिए वेलिंग मशीन स्थापित की जा रही है। यह मशीन 100 किलो से अधिक पॉलीथिन को दबाकर एक बंडल में बदल देती है। जिससे पॉलिथीन को रखने, परिवहन करने एवं रिसाइकल करने मे आसानी होगी।

रूआबांधा एसएलआरएम सेंटर में इसे स्थापित किया गया है। साथ ही शेड निर्माण कभी कार्य किया जा रहा है। रुआबांधा के बाद नेहरू नगर तथा खुर्सीपार एसएलआरएम सेंटर मे भी इसे स्थापित किया जाएगा। समस्त प्रकार के प्रतिबंधित पॉलिथीन को एकत्रित करते हुए वर्तमान में रूआबांधा कचरा पृथकीकरण केंद्र मे लाकर इसे वेलिंग मशीन के माध्यम से बंडल बनाने का काम किया जा रहा है। जिसका अवलोकन आयुक्त द्वारा स्वयं किया गया।

'भिलाई को पॉलीथिन मुक्त शहर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। पॉलीथिन पर्यावरण के लिए घातक है। इससे मवेशियों को भी खतरा है। इसलिए ये मशीन लगाई जा रही है।'

-एसके सुंदरानी, आयुक्त

नगर निगम भिलाई