भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

बीएसपी के कोक ओवन में एक बड़ा हादसा होते-होते बचा है। लापरवाही से कर्मचारी की जान जा सकती थी, फिलहाल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। भठ्ठे में कोल से कोक तैयार होने के बाद पुशिंग कार से बाहर निकालने की तैयारी थी। भठ्ठा और कार में समन्वय न बैठने के कारण कोक कार की केबिन पर गिर गया। घटना में कर्मचारी की जान बच गई, वह 40 फीसद झुलस गया।

शुक्रवार दोपहर करीब 1.45 बजे कोक ओवन में दहकते कोक से केबिन का शीशा टूट गया। यह देख केबिन में मौजूद सीनियर ऑपरेटर हड़बड़ा गया। जान बचाने भागने की फिराक में लड़खड़ाकर गिर पड़ा। इससे उसका हाथ दहकते हुए प्लेटफॉर्म पर पड़ गया। सेफ्टू शूज नहीं पहनने के कारण उसका जूता भी जल गया, पैर में गहरा जख्म हो गया। मौके पर मौजूद कर्मचारी और अधिकारी उसे मेन मेडिकल पोस्ट ले गए, जहां प्राथमिक उपचार के बाद सेक्टर-9 हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया। बर्न यूनिट में इलाज चल रहा है।

कोक ओवन के सीनियर ऑपरेटर 47 वर्षीय प्रवीण कोठारी अघोषित छुट्टी से शुक्रवार सुबह ही लौटा था। विभागीय अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद वह काम करने गया। वह एक अधिकारी से बोलकर गया कि टॉयलेट से होकर आ रहा है। लौटते ही पुशिंग कार पर सवार हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि वह कार को नियंत्रित नहीं कर सका। सामने ठोकर मार दी, इससे दहकता हुआ कोक केबिन पर ही गिर पड़ा। बगल में सीढ़ी थी। वह आसानी से वहां से उतर सकता था। घबराहट में सीढ़ी की तरफ गया ही नहीं। जिस दिशा में कोक गिरा था, उसी दिशा में भागा। बताया जा रहा है कि प्लास्टिक का जूता पहनने के कारण पैर जला। अगर सेफ्टी शूज पहने होता तो पैर नहीं जलता। दो साल पहले भी प्रवीण इसी तरह गिर पड़ा था। वहीं के अधिकारी ही उसे मेन मेडिकल पोस्ट ले गए थे। वहीं, चिकित्सकों का कहना है कि कर्मी का पंजा, कोहनी, चेहरा, पीठ पर जख्म है।