पाटन, दुर्ग । समीप के ग्राम धुमा में सांप पकड़ने में माहिर एक बुजुर्ग की सांप के डसने से मौत हो गई है। दरअसल वह ग्राम धुमा में सांप को पकड़कर उसे छोड़ने गांव से दूर ले जा रहा था तभी उक्त सांप ने डल लिया इससे उसकी मौत हो गई। घटना मंगलवार शाम छह बजे की बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार ग्राम धुमा में रहने वाले 55 वर्षीय खेदू राम की मौत सांप के डसने से हो गई। मंगलवार को अपरा- करीब तीन बजे कसही में एक घर में जहरीला सांप घुस गया था। गांव के ही एक युवक द्वारा सांप पकड़ने के लिए धुमा निवासी खेदू तुमरेकी को गांव लाया गया।

बताया जाता है कि सांप को पकड़कर खेदू सांप को गांव से कुछ दूर छोड़ने जा रहा था। इसी बीच सांप ने खेदू को डस लिया, लेकिन खेदू ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। करीब पांच बजे खेदू को कुछ तकलीफ हुई उसके बाद उसे 108 संजीवनी से पाटन अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

दस साल से कर रहा था सांप पकड़ने का काम

ग्रामीणों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक खेदूराम पिछले दस साल से सांप पकड़ने का काम करता था। ग्रामीण आशाराम ने बताया कि खेदू आसपास में सांप पकड़ने के लिए जाना जाता था। पिछले कुछ सालों में सौ से अधिक बार वह सांप पकड़ चुका है।

इसी तरह सांप को पकड़कर वह गांव से बाहर छोड़ देता था। कुछ ग्रामीणों ने तो यह भी बताया कि खेदू को कई बार सांप ने डसा है पर वह कुछ दवाई का उपयोग करता था जिससे उसे कुछ नहीं होता था लेकिन इस बार वह सांप के जहर से नहीं बच सका। पाटन पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।