बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

हमारा देश एकमात्र ऐसा देश है जहां चार धर्म ने जन्म लिया है हिन्दू, जैन, बौद्घ, सिख। जबकि सभी देशों म ेंकेवल एक ही धर्म ने जन्म लिया है। कैंपस में सभी धर्मों की प्रार्थना करते हैं, हमार ेबीच धर्म, भाषा की कोइ र्दीवार नहीं है। यह बातें शासकीय बिलासा कन्या पीजी महाविद्यालय में आयोजित राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के शुभारंभ अवसर पर मुख्य अतिथि प्रो एसएन सुब्बा राव ने कही।

बिलासा कन्या कॉलेज के ऑडिटोरियम में राष्ट्रीय एकता, सामाजिक सदभाव एवं युवा विकास विषय पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय युवा योजना नई दिल्ली,के संस्थापक संरक्षक एवं निर्देशक डॉ.सुब्बाराव ने आगे आजादी की लड़ाई में शहीद हुए खुदीराम बोस के योगदान को बताया। कहा कि हमारा देश धर्म के आधार पर नहीं बल्कि भाषा के आधार पर बंटवारा हा ेरहा है और हुआ है।उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए आगे कहा कि यदि देश का हर व्यक्ति यह सोचे की वह देश के लिए काम कर रहा है और वह कार्य श्रेष्ठ कार्य है तो एक अच्छे भारत का निर्माण संभव होगा। इस अवसर पर अध्यक्षता बिलासपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.जीडी शर्मा ने किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में सह अपर संचालक डॉ.एसआर कमलेश,बीयू रासेयो के पूर्व कार्यक्रम अधिकारी डॉ एएम अग्रवाल, बांके बिहारी शुक्ला उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ कावेरी दाभड़कर, सहा प्राध्यापक भूगोल ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ मंजु माधुरी बाजपेयी, सहा प्राध्यापक, एव ंमहाविद्यालय रासेयो प्रभारी ने किया।