बिलासपुर (राधाकिशन शर्मा)राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहे जाने वाले बैगा आदिवासी प्रधानमंत्री किसान सम्मान

निधि से वंचित हो गए हैं। दरअसल इस योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए सॉफ्टवेयर में वनग्राम व बैगा वनवासी किसानों का जिक्र नहीं किया गया है।

अविभाजित बिलासपुर जिले और वर्तमान में मुंगेली जिले के नक्शे में 35 ऐसे गांव हैं जो वनग्राम के रूप में शामिल

है। यहां बैगा आदिवासियों की भी बहुलता है, जिन्हें केंद्र सरकार ने संरक्षित जाति घोषित कर रखा है। इसके अलावा ये राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र के रूप में जाने जाते हैं। यह पहली बार हो रहा है जब केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ राष्ट्रपति के दत्तक पुत्रों को नहीं मिल पाएगा। दूरस्थ वनाचंलों में खेती किसानी कर अपनी आजीविका चलाने वाले बैगा वनवासी व आदिवासियों को केंद्र सरकार

की नजर में किसान का दर्जा प्राप्त नहीं है। तभी तो पीएम किसान सम्मान निधि के लिए बनाए गए सॉफ्टवेयर में वनवासी व वनग्राम को शामिल नहीं किया गया है।

राजस्व ग्राम बनाने के बाद भी योजना से बाहर

वनअधिकारी अधिनियम के तहत राज्य शासन ने बैगा आदिवासियों व वनवासियों को पट्टा जारी करने के बाद 18 वन ग्रामों को राजस्व ग्राम में तब्दील कर दिया है। इसके बाद भी केंद्र की इस योजना से यहां के किसानों को दूर रखा जा रहा है। बिजरकछार, मौहामाचा, सलगी, बांटीपथरा, झिरीया, सरगढ़ी, खुड़िया, बहाउड़, जाकड़बांधा, जमुनाही, बांकल, संभरधसान, बोकराकछार ये ऐसे वन ग्राम हैं जो अब राजस्व दस्तावेजों में राजस्व ग्राम में शामिल हो गए है।

ये गांव भी हैं योजना से अछूते

सिंहावल, सारसडोल, छपरवा बिंदावल, तिलईडबरा,रंजकी, बिरारपानी, छिरहट्टा, ढ़ूढवाडोंगरी, मंजूरहा, चकदा, परसहापारा, राजक, बोईरहा, औंरापानी, सुरही, अतरिया, बम्हनी, कटामी, जाकड़बांधा, जमुनाही, महामाई, डंगनिया, घमेरी, सरसोहा, निवासखार, सरगढ़ी, झिरिया । ये ऐसे गांव हैं जहां बैगा आदिवासियों की बहुलता है।

मार्गदर्शन मांगेंगे

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत आने वाले किसानों की सूची अपडेट करने के लिए केंद्र सरकार

ने नया सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इसी सॉफ्टवेयर में किसानों के नाम और कृषि योग्य जमीन की जानकारी अपडेट की जा रही है। वनग्राम के संबंध में जानकारी नहीं है । राज्य शासन को पत्र लिखकर इस संबंद्य में मार्गदर्शन मांगा जाएगा - टीसी महावर, कमिश्नर,बिलासपुर संभाग