बिलासपुर(निप्र)। निगम आयुक्त के आकस्मिक निरीक्षण में एक बार फिर सफाई कार्य में लापरवाही उजागर हुई है। नतीजतन सफाई ठेकेदार मेसर्स कुमार इंटरप्राइजेस पर 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। सफाई व्यवस्था में तुरंत सुधार नहीं होने पर ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

लंबे समय के बाद आयुक्त सौरभ कुमार ने शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने के लिए निकले। इस दौरान वार्ड क्रमांक 35, 42 और 28 का निरीक्षण किया गया। इसमें उन्हें कुछ जगह पर सफाई व्यवस्था संतोषजनक तो कुछ जगहों पर भारी लापरवाही दिखी। वार्ड क्रमांक 28 में सफाई कार्य का निरीक्षण करने के दौरान व्यवस्था ठीक नहीं थी। जगह-जगह कचरे का ढेर लगा हुआ था। यहां सफाई ठेकेदार मेसर्स कुमार इंटरप्राइजेस द्वारा सफाई कार्य में लापरवाही बरतने का मामला सामने आया। उसके द्वारा मौके पर उपस्थित नहीं रहने के कारण निर्धारित संख्या से कम सफाई कर्मचारी आ रहे थे। इसके अलावा मौके पर सफाई कार्य में लगे वाहन ट्रैक्टर, ट्रॉली इत्यादि भी सफाई कर्मचारियों को उपलब्ध नहीं कराए गए थे। इससे भी सफाई व्यवस्था प्रभावित हो रही थी। इन सब कारणों को देखते हुए सफाई ठेकेदार मेसर्स कुमार इंटरप्राइजेस पर सफाई कार्य में लापरवाही बरतने के कारण 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओंकार शर्मा को जुर्माने की राशि वसूलने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के स्वच्छता निरीक्षक व सुपरवाइजरों को भी कड़ी हिदायत दी है कि वे सफाई कार्य निर्धारित समय में प्रारंभ कराएं व इसमें किसी प्रकार की लापरवाही होने तक तत्काल उसके खिलाफ कार्रवाई करें।