बिलासपुर(निप्र)। आरपीएफ की मित्र योजना जल्द ही अस्तित्व में आने वाली है। रेलवे के सुरक्षा विभाग ने इसके लिए कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत रेलवे स्टेशन के कुली, ऑटो चालक व लाइसेंसी वेंडरों को मित्र बनाया जाएगा। आपसी समन्वय स्थापित होने के बाद स्टेशन का यह समूह हर छोटे- बड़े अपराध व अपराधियों की सूचना देगा। इसके बाद सुरक्षा अमला मौके पर पहुंचकर त्वरित कार्रवाई कर सकता है।

इस योजना को अमलीजामा पहनाने के पीछे जो सबसे बड़ी वजह मानी जा रही है, वह रेलवे सुरक्षा विभाग में स्टॉफ की कमी है। यह स्थिति केवल बिलासपुर रेलवे स्टेशन में नहीं बल्कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन समेत देश के सभी जोन की यही हालत है। कुछ जोन में मित्र योजना का बेहतर संचालन भी हो रहा है। यहां भी बहुत पहले की इसकी शुरुआत हो जानी चाहिए थी, लेकिन विभागीय दिक्कतों के कारण सुरक्षा विभाग इसे अस्तित्व में नहीं ला सका। अब जब ट्रेनों में अपराधिक घटनाएं बढ़ रही है, तब इस योजना की आवश्यकता भी महसूस की जा रही है। मित्र योजना को प्रत्येक स्टेशन में स्थापित आरपीएफ पोस्ट लागू करेगा। इसके तहत वे चुनिंदा कुली, ऑटो चालक, रिक्शा चालक, लाइसेंस वेंडर मित्र बनाएंगे। उनके साथ इस तरह समन्वय स्थापित किया जाएगा कि वे ट्रेनों व स्टेशनों में होने वाली अपराधिक घटनाओं व इससे जुड़े लोगों की सूचनाएं आरपीएफ को देंगे। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचना और अपराधियों को पकड़ने की जिम्मेदारी आरपीएफ की होगी। इतना ही यात्रियों की शिकायतों का भी त्वरित निदान करना उनके दायित्व में शामिल होगा। मित्र योजना में इन वर्गों का इसलिए शामिल किया जा रहा है, क्योंकि यह वर्ग पूरे समय स्टेशन में तैनात रहने के साथ यात्रियों के संपर्क में भी रहते हैं।

किया जाएगा प्रोत्साहित

मित्र योजना के तहत प्रोत्साहन करने का भी प्रावधान है। यह प्रोत्साहन पूरी टीम को तब मिलेगी, जब उनके द्वारा कोई बड़ी घटना होने पर उसका तत्काल निराकरण करेंगे। साथ अपराधियों को पकड़वाएंगे। प्रोत्साहन का प्रावधान इसलिए रखा गया है, क्योंकि इससे मनोबल बढ़ता है।

जल्द जारी होगा सिक्युरिटी हेल्पलाइन नंबर

आरपीएफ में एक और बेहतर व्यवस्था लागू होने वाली है। विभाग जल्द ही ऑल इंडिया सिक्युरिटी हेल्पलाइन नंबर करने वाला है। इसके लिए दिल्ली मुख्यालय स्तर पर तैयारियां पर चल रही है। यह नंबर चार डिजीट में होने के साथ इतना सरल होगा कि यात्री आसानी से इसे याद रख सकते हैं। वर्तमान में जोन स्तर पर एक सामान्य वर्ग के लिए और दूसरा महिला यात्रियों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी है। इस पर शिकायतें आने पर विभाग का अमला त्वरित निराकरण की कार्रवाई भी करता है। ऑल इंडिया स्तर पर हेल्पलाइन नंबर जारी होने से यात्रियों की सुविधाओं कसावट आएगी। मुख्यालय से सूचना के बाद प्रकरणों को गंभीरता के साथ सुना जाएगा।

आरपीएफ की मित्र योजना को लागू करने की कवायद चल रही है। जल्द ही यह अस्तित्व में आ जाएगी। इसके तहत कुली, ऑटो व रिक्शा चालक के अलावा लाइसेंसी वेंडरों को जोड़ा जाएगा। इससे सूचना प्रणाली सुदृण होंगी। यह बात भी सही है कि ऑल इंडिया सिक्युरिटी हेल्पलाइन नंबर जारी होने वाला है।

मुनव्वर खुर्शीद

उपमहानिरीक्षक व सह अपर मुख्य सुरक्षा आयुक्त ,दपूमरे