बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर के साथ ही जिले में मारपीट व गुंडागर्दी जैसी घटनाओं में काउंटर एफआइआर दर्ज करने की परंपरा से नाराज एसपी ने थानेदारों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने दो टूक चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसे मामलों की पहले तस्दीक कर लें, फिर पीड़ितों की तरफ से ही एफआइआर दर्ज करें। आने वाले समय में इस तरह का मामला सामने आने पर थानेदारों पर कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने कई मामलों की जानकारी थानेदारों को नहीं रहने पर हैरानी जताई और इसे शर्मनाक स्थिति कहा।

एसपी आरिफ एच शेख ने सोमवार को जिलेभर के थानेदारों व पुलिस अफसरों की बैठक ली। बिलासागुड़ी में आयोजित इस बैठक में अपराधों की समीक्षा की गई। सुबह 10.30 बजे से शुरू हुई बैठक शाम 5 बजे तक चलती रही। इस दौरान लंबित अपराधों व शिकायतों का निराकरण करने पर थानेदारों की तारीफ करते हुए इनाम की घोषणा की। वहीं कई थानेदारों की मनमानी रवैए पर सख्त नाराजगी जताते हुए फटकार भी लगाई। बैठक में एसपी शेख ने कोतवाली व सिरगिट्टी सहित अन्य थानों में काउंटर अपराध दर्ज करने की परंपरा पर जमकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि मारपीट से घायल व्यक्ति रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचता है, तो पुलिस उल्टे उसी के खिलाफ अपराध दर्ज कर लेती है। उन्होंने लंबित अपराधिक प्रकरणों के साथ ही शिकायत सहित अन्य मामलों में तेजी लाने के निर्देश दिए। बैठक में एडिशनल एसपी सिटी नीरज चंद्राकर, एडिशनल एसपी ग्रामीण अर्चना झा, गौरेला के एडिशनल एसपी मधुलिका सिंह, एएसपी मेघा टेम्भुरकर, एसडीओपी कोटा विश्वदीपक त्रिपाठी, सीएसपी सिविल लाइन नसर सिद्दिकी, डीएसपी व थाना प्रभारी सिविल लाइन भवानी शंकर खुंटिया,थाना प्रभारी चकरभाठा परिवेश तिवारी सहित अन्य अधिकारी व थानेदार मौजूद रहे।

वर्दी नहीं पहनने पर निलंबित करने दी चेतावनी

बैठक में एसपी ने थानों में पुलिसकर्मियों के रवैए को लेकर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि यातायात नियमों का सख्ती से पालन करना पुलिस की जिम्मेदारी है। लिहाजा, स्पष्ट है कि पुलिसकर्मियों के लिए बाइक चलाते समय हेलमेट अनिवार्य है। इसी तरह वर्दी पहनकर थाने नहीं आने पर पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की भी चेतावनी दी है।

तबादले के बाद भी जमे पुलिसकर्मियों को दिया अल्टीमेटम

एसपी ने सभी थानेदारों से पूछा कि उनके द्वारा जारी किया गया तबादला आदेश पर अमल हुआ है या नहीं। तबादले के बाद भी कई थानेदार हवलदार व आरक्षकों को थानों में रोककर रखे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे पुलिसकर्मियों को मंगलवार तक रवानगी दे दी जाए, नहीं तो उनका निलंबन किया जाएगा। मालूम हो कि एसपी द्वारा जारी तबादला आदेश के बाद भी शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के थानों में पुलिसकर्मी जमे हुए हैं।