बिलासपुर। रविवार की देर रात अग्रसेन चौक पर दो युवतियों से सरेराह छेड़खानी कर रहे युवकों ने विरोध करने पर नायब तहसीलदार के साथ जमकर मारपीट कर दी। इससे वे घायल हो गए। उनकी रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है। सिविल लाइन पुलिस के अनुसार सरगुजा जिले के लखनपुर निवासी प्रतीक जायसवाल पिता रामरतन जायसवाल बलौदा बाजार जिले के सिमगा में नायब तहसीलदार के पद पर कार्यरत हैं। रविवार को वह मंगला निवासी अपने मित्र संतोष कुमार से मिलने आए थे।

इस दौरान दोनों रात में भोजन करने के लिए रेलवे स्टेशन के पास मुल्कराज होटल चले गए। वहां से रात करीब 12.30 बजे वापस मंगला लौट रहे थे। तभी अग्रसेन चौक से पहले सड़क किनारे दो युवक व दो युवतियां खड़ी थीं। युवक उन लड़कियों से छेड़खानी कर रहे थे। वहीं लड़कियां उनसे बचकर भागने की कोशिश कर रही थीं।

उन्हें देखकर नायब तहसीलदार व उसके दोस्त रुक गए। इस दौरान उन्होंने युवकों की हरकतों का विरोध किया। इस पर युवक उल्टा नायब तहसीलदार से उलझ गए और गाली-गलौज करते हुए बेल्ट व मुक्के से मारपीट शुरू कर दी। युवकों की पिटाई से नायब तहसीलदार खून से लथपथ होकर घायल हो गए।

इस वारदात के बाद हमलावर युवक बाइक क्रमांक सीजी 10 एजी 9796 से भाग निकले। वहीं आहत नायब तहसीलदार सिविल लाइन थाना पहुंचे। पुलिस ने उनका मुलाहिजा कराया। फिर उनकी रिपोर्ट पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

मारपीट होने पर भाग निकली युवतियां

नायब तहसीलदार जिन लड़कियों को बचाने के लिए रुके थे। वहीं युवतियां विवाद व मारपीट होने पर उनकी मदद करने के बजाए भाग गए। यहां तक कि उन्होंने इस घटना की सूचना पुलिस को भी नहीं दी।

लिंक रोड पर रात में सक्रिय रहते हैं असामाजिक तत्व

सीएमडी चौक से लेकर सत्यम चौक तक देर रात आसामाजिक तत्व के युवकों का जमावड़ा रहता है। स्वदेशी प्लाजा के पास शराब दुकान होने के कारण यहां नशेड़ियों की भीड़ भी लगी रहती है। वहीं बाइकर्स युवक भी फर्राटे मारते हैं। रात में पुलिस इन युवकों की गतिविधियों पर ध्यान नहीं देते और न ही कभी कोई कार्रवाई करते हैं।