बिलासपुर। नईदुनिया में प्रकाशित बेड़ियों में जकड़े मानसिक रोगी की फोटो पर हाईकोर्ट के जस्टिस व छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा ने संज्ञान में लिया है। उन्होंने पैरालीगल वालंटियर्स भेज कर उसे राज्य मानसिक अस्पताल में भर्ती कराया है। इसके साथ ही उसे बेड़ियों से मुक्ति मिल गई है।

नईदुनिया के बिलासपुर संस्करण के 16 मार्च के अंक में रेलवे स्टेशन के पास बेड़ियों में जकड़े मानसिक रोगी की फोटो प्रकाशित की थी। वह पिछले कई दिन से क्षेत्र में घूम रहा था। नईदुनिया में प्रकाशित फोटो को जस्टिस मिश्रा ने गंभीरता से लिया।

उन्होंने प्राधिकरण के सदस्य सचिव विवेक तिवारी को मानसिक रोगी की तलाश कर उसे उपचार के लिए राज्य मानसिक अस्पताल भेजने के निर्देश दिए। इसके बाद जिम्मेदार अधिकारी सक्रिय हुए। पैरालीगल वालंटियर्स राघवेन्द्र सिंह व जयगोविंद शर्मा को उसकी तलाश के लिए भेजा गया।

वालंटियर्स को वह स्टेशन क्षेत्र में ही मिल गया। दोनों ने पहले मानसिक रोगी को खाना खिलाया। इसके बाद सीजेएम के कोर्ट में पेश कर राज्य मानसिक अस्पताल में भर्ती करने की अनुमति ली। अस्पताल में भर्ती कराने के बाद उसके पैरों से बेड़ियों को काट कर अलग किया गया। बेड़ियों के कारण उसके पैर में घाव हो गया है। अस्पताल में उसका उपचार किया जा रहा है।