बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अधिक कमाई के चक्कर में एसएलआर लीज होल्डर लगातार रेलवे की आंख में धूल झोंक रहे हैं। अमृतसर- बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के एसएलआर में भी ओवर लोडिंग का मामला सामने आया। सूचना के आधार पर जोन की विजिलेंस टीम ने बिलासपुर पहुंचते ही छापामार कार्रवाई की। इस दौरान ट्रेन के दोनों एसएलआर का वजन कराने में इससे 400 किग्रा अधिक पार्सल निकला। इसके लिए लीज होल्डर पर 32 हजार रुपये जुर्माना किया गया।

ट्रेन के बिलासपुर पहुंचने का समय दोपहर 12.30 बजे है। मंगलवार को यह लेट पहुंची। दोपहर दो बजे के करीब जैसे ही ट्रेन प्लेटफार्म पर आई विजिलेंस टीम पहुंची और हमालों को पार्सल उतारने के लिए मना कर दिया गया। इसके बाद बारी- बारी पार्सल को उतरवाकर एक किनारे में रखा गया। इधर जांच की सूचना मिलते ही पार्सल में हड़कंप मच गया। इस ट्रेन के एसएलआर का लीज अमृतसर के सखी रेल नाम से फर्म को दिया गया। पार्सल परिवहन के कागजात की जांच की गई। साथ ही यह भी खंगाला गया कि नागपुर व रायपुर में कितना सामान उतरा है। इन सभी को मिलाकर आखिरी में 400 किग्रा वजन अधिक पार्सल निकला। लीज होल्डर अमृतसर में रहता है। यहां उसका काम प्रवीण खन्ना देखते हैं। वजन के हिसाब से लीज होल्डर के खिलाफ 32 हजार रुपये का जुर्माना किया गया।

चार दिन में दूसरा मामला

लीज एसएलआर में ओवरलोड पार्सल का यह चार दिन में दूसरा मामला है। इससे पहले तीन नवंबर को 12905 पोरबंदर-हावड़ा एक्सप्रेस में ढाई टन अधिक पार्सल निकला था। इस लापरवाही के लिए लीज होल्डर पर एक लाख 80 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया था।