बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

केंद्रीय जेल में कैदी पर हुए हमले को लेकर उसके भाई ने जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसका कहना है कि सहायक जेलर ने कैदी को बुलवाकर पिटाई कराई है, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया है।

हत्या के मामले में केंद्रीय जेल में आजीवन सजा काट रहे कैदी रामखिलावन पिता दुलासिंह यादव (38) पर कुछ दिन पहले नंबरदारों ने हमला कर दिया था। इससे वह गंभीर रूप से घायल है। अब उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जेल प्रबंधन के अनुसार गोल चक्कर में जांच कराने से इन्कार करने पर नंबरदार नारायण, शरद, समीर और छोटकू ने मिलकर उस पर हमला किया था। इधर घायल कैदी के भाई मुकेश यादव ने इस मामले में जेल प्रबंधन पर यह गंभीर आरोप लगाया। उसने कहा कि सहायक जेलर के इशारे पर व उसके दबाव में आकर जानबूझकर उस पर हमला किया गया है। उसने इस मामले की शिकायत आला अधिकारियों से भी करने की बात कही है।

हालत नाजुक, अपोलो रिफर

घटना की जानकारी जेल से बाहर न जाए, इसलिए दो दिन तक घायल कैदी को जेल अस्पताल में ही भर्ती रखा गया। यहां उसकी हालत में सुधार नहीं होने पर उसे सिम्स और फिर बाद में अपोलो अस्पताल भेज दिया गया। उसकी हालत अब भी नाजुक बताई जा रही है।

भाई के मोर्चा खोलने पर कराई पिटाई

कैदी रामखिलावन के भाई मुकेश यादव ने जेल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसने तीन साल पहले कोरबा जिला जेल के एक अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई के लिए मोर्चा खोल दिया था। इस मामले की शिकायत उसने कई जगहों पर भी की, जिस पर जांच चल रही है। संबंधित अधिकारी को इस बात की जानकारी मिलने पर उन्होंने केंद्रीय जेल में बंद भाई को निशाना बनाया। उसके जरिए शिकायत वापस लेने दबाव बनाया जा रहा है। यही वजह है कि उसके भाई को प्रताड़ित कर परेशान किया जा रहा है।