बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

विधानसभा क्षेत्र का उम्मीदवार कौन होगा। इसका निर्णय भाजपा के बड़े से लेकर मंडल स्तर के पदाधिकारी रविवार 14 अक्टूबर को जिला भाजपा कार्यालय में मतदान के जरिए करेंगे । प्रक्रिया को पूरी कराने तीन पर्यवेक्षकों की तैनाती की गई है। तीनों पर्यवेक्षकों की टीम रविवार को सुबह 10 बजे जिला भाजपा कार्यालय पहुंच जाएगी ।

पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र के बनाए रखने और उम्मीदवारी चयन में पारदर्शिता रखने के उद्देश्य से भाजपाई रणनीतिकारों ने नया प्रयोग करने का निर्णय लिया है। इसकी शुरुआत प्रदेशभर में रविवार 14 अक्टूबर को एकसाथ की जा रही है। सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में पर्यवेक्षकों की टीम भेजी जा रही है। पदाधिकारी अपने विधानसभा क्षेत्र के लिए उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया गुप्त मतदान के जरिए करेंगे । मतदान में कौन-कौन पदाधिकारी हिस्सा लेंगे यह भी तय कर दिया गया है। राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्यों के अलावा राष्ट्रीय पदाधिकारी,प्रदेश पदाधिकारी,जिलाध्यक्ष व महामंत्री,मंडल अध्यक्ष व महामंत्रियों के अलावा मोर्चा व प्रकोष्ठ के अध्यक्षों,जिला पंचायत सदस्य,महापौर,निगम अध्यक्ष,नगरीय निकायों के अध्यक्ष के अलावा मंडल अध्यक्ष व महामंत्री को शामिल किया गया है। रणनीतिकारों का मानना है कि उम्मीदवारी चयन के संबंध में पदाधिकारी खुलकर अपनी बात नहीं रख पाते । वर्तमान विधायक या फिर उम्मीदवार की कतार में शामिल दिग्गजों की नाराजगी मोल नहीं लेना चाहते। बंद कमरे में दिग्गजों से बात करने का मौका नहीं मिल पाता । ऐसी स्थिति में प्रत्याशी चयन के बाद पदाधिकारियों की नाराजगी भी खुलकर सामने आने लगती है। नाराजगी को दूर करने और पदाधिकारियों की मन की बात को टटोलने के लिए भाजपाई रणनीतिकारों ने मतदान के जरिए उम्मीदवारों की तलाश करने का निर्णय लिया है। ड्राप बाक्स में पदाधिकारियों को अपनी पसंद के उम्मीदवार का नाम लिखकर डालना है।