बिलासपुर। नईदुनिया न्यूज

श्रीकांत वर्मा मार्ग स्थित कुंदन में दो दिवसीय डांडिया नाइट हमर डांडिया तिहार की शुरुआत शनिवार को हुई। शहरवासी डांडिया नाइट में देर रात तक छत्तीसगढ़ी और बॉलीवुड के गीतों में झूमते रहे। कोरी-कोरी नरियर चढ़े दाई ओ.., हमर पारा तुंहर पारा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा.., सबसे बड़ा तेरा नाम, ऊंचे डेरो वाली.. जैसे एक से बढ़कर एक नए-पुराने गीतों के साथ डांडिया नाइट में सुरों की महफिल सजती रही और शहरवासी डांडिया का आनंद लेते हुए मां अंबे की भक्ति में डुबे रहे।

हमर डांडिया तिहार के जरिए शहरवासियों को डांडिया की खनक के साथ छत्तीसगढ़ की लोक परंपरा से जोड़ने का यह प्रयास है। सजक इवेंट व नईदुनिया के इस आयोजन में बॉलीवुड के गानों के साथ ही छत्तीसगढ़ी गीतों का जादू शहरवासियों के सिर चढ़कर बोलता रहा। लोगों की शाम भी गीतों और सेलिब्रिटी के साथ से यादगार बनती रही। कार्यक्रम की शुरुआत मां अंबे की महाआरती के साथ हुई। इसमें प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री अटल श्रीवास्तव, आधारशिला विद्या मंदिर के संचालक डॉ.अजय श्रीवास्तव, प्रदेश कांग्रेस के सचिव और कांग्रेस के जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। महाआरती के बाद उन्होंने भी डांडिया का आनंद लिया। इसके बाद डांडिया तिहार के प्रति लोगों की दीवानगी देखते ही बन रही थी। जैसे-जैसे रात गहराती गई वैसे-वैसे लोगों की भीड़ भी बढ़ती गई। डांडिया परिसर में पैर रखने की भी जगह नहीं रही। वहीं एक से बढ़कर एक यादगार गीतों के साथ डांडिया ने इसे खास बनाया। पारंपरिक परिधानों से सजकर लोग डांडिया नाइट में शामिल हुए और देर रात्रि तक झूमते रहे। वहीं रायपुर के प्लेबैक सिंगर अभिलाष छत्तीसगढ़ी गीतों के साथ बॉलीवुड के गीतों के जरिए सभी को दीवाना बनाते रहे। इसके साथ ही देशी सुपर सिस्टर्स की जोड़ी दीपशिखा-शिल्पा की भी प्रस्तुति सभी को लुभाती रही। आरजे भूमिका एंकर के रूप में मंच का कमान संभाली और बड़ी ही खूबसूरती के साथ कार्यक्रम को पेश किया।

0 लेते रहे सेल्फी

इस अवसर पर लोगों में सेल्फी के प्रति जुनून देखते ही बन रहा था। सभी अपनी शाम को यादगार बनाने के लिए सेल्फी लेते रहे और इन पलों को सहेजते रहे।

0 दिव्यांगों ने भी लिया आनंद

डांडिया तिहार में मूक-बधिर सहित अन्य दिव्यांगजनों के लिए विशेष जगह बनाई गई है। इसमें उन्होंने भी डांडिया का आनंद लिया। उन्हें त्योहार की खुशियां देने और समाज से जोड़े रखने यह कदम उठाया गया है, ताकि उनके भी एकाकी जीवन में उत्सव के रंग सजे। इस मौके पर वे भी डांडिया के साथ मां अंबे की आराधना करते रहे।

0 सजावट में झलकी लोक संस्कृति

सजावट विशेष रूप से छत्तीसगढ़ी थीम पर की गई है। इससे छत्तीसगढ़ की लोककला के रंग झलकते रहे। इसमें बांस शिल्प को प्राथमिकता देते हुए पंडाल को सजाया गया है। रंग-बिरंगी रोशनी के साथ छत्तीसगढ़ी थीम की सजावट सभी के लिए आकर्षण का केंद्र रही। डांडिया तिहार में शामिल लोगों को बेस्ट कपल, बेस्ट ग्रुप, बेस्ट परिधान सहित अनेक वर्ग में पुरस्कार दिए जाएंगे।

0 दूसरे दिन भी छाएगा जादू

आयोजन के दूसरे दिन रविवार को भी डांडिया की मस्ती छाएगी। इस दिन इंडियन आइडल फेम सुप्रिया रामालिंगम की आवाज का जादू होगा। इसके साथ ही रायपुर के प्लेबैक सिंगर अभिलाष और देशी सुपर सिस्टर्स की जोड़ी दीपशिखा-शिल्पा और आरजे भूमिका कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण होंगी। मुख्य अतिथि के रूप में यूथ चेंबर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष आदित्य अग्रवाल, महापौर किशोर राय उपस्थित होंगे। इसके साथ ही वृद्घाश्रम के बुजुर्ग भी डांडिया में शामिल होंगे। उन्हें विशेष अनुमति लेकर कार्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा।