फोटो : 16जानपी 18-टर्मिनल में खड़ी सिटी बस

पीएम आगमन पर सिटी बस की मांग

जांजगीर-चांपा।नईदुनिया न्यूज। जिले में तीन साल पहले शुरू हुई सिटी बस सेवा अब तक पटरी पर नहीं आई है। शुरूआत में भी सिर्फ पांच सिटी बसों का संचालन शुरू हुआ। पांच माह पहले तो सभी बसों का संचालन बंद हो गया था मगर लगातार मांग के चलते यह सेवा जुलाई में शुरू हुई। यहां खड़ी बसों में से 3 बसों को शहर के कुछ जनप्रतिनिधियों द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया, मगर रेलवे स्टेशन से खोखरा तक सिटी बस अब तक शुरू नहीं हो सका।

इस मार्ग में कालेज कृषि मंडी, दीनदयाल कालोनी, पुलिस लाइन, जेल लाइन, केन्द्रीय विद्यालय सहित कई सरकारी ऑफिस के अलावा दर्जनों गांव के लोग सिटी बस से आना जाना करते थे। सिर्फ पांच बसें ही चल रही हैं ऐसे में यात्रियों को सभी बसों का लाभ नहीं मिल रहा है। अब भी पांच बसें टर्मिनल में खड़ी होकर धूल खाती पड़ी है। यहां 10 बसें आई थी और सभी बसों का परमिट कार्यालय सचिव क्षेत्रिय परिवहन पदाधिकारी ने जारी किया है। इन बसों के परमिट में फेरों का भी उल्लेख है। इसके अनुसार बसों का दिन भर में चार से पांच फेरा लगना है मगर अकलतरा से शिवरीनारायण व्हाया पामगढ़, शिवरीनारायण से अकलतरा, बलौदा से चांपा, चांपा से अकलतरा और नैला से चांपा तक सिर्फ पांच बसों का संचालन हो रहा है। इनमें से बलौदा से चांपा मार्ग तथा जिला अस्पताल जांजगीर से अकलतरा तथा चांपा से अकलतरा केरा रोड बस स्टैण्ड से चांपा रेलवे स्टेशन तक भी सिटी बसों का संचालन होना है मगर सिर्फ 3 बसें ही संचालित हो रही है। इस तरह शासन की महत्वाकांक्षी योजना का लाभ जिलेवासियों को नहीं मिल पा रहा है। अब भी पांच बसें धूल खाती पड़ी है। जिन मार्गों पर दो-दो बसें चलनी थी उन मार्गों पर एक-एक बस ही चल रही है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सिटी बस के अभाव में ज्यादा रूपए खर्च कर आना जाना पड़ता है। इधर 22 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जांजगीर आएंगे। ऐसे में रेलवे स्टेशन नैला से खोखरा तक सिटी बस चलाने की मांग फिर से जोर पकड़ने लगी है।

----------------------------------------------------