बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक गुरुवार को हुई। कुलपति प्रो.अंजिला गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को हिंदी टायपिंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशासनिक कार्यों में हिंदी के उपयोग को बढ़ाने कोशिश होगी।

प्रशासनिक भवन के सभा कक्ष में आयोजित 23वीं बैठक के कार्यवृत्त की पुष्टि की गई। इसके बाद दिसम्बर, 2017 को समाप्त तिमाही के हिंदी प्रगति प्रतिवेदन की समीक्षा पर चर्चा की गई। अनुपालन के लिए राजभाषा के लिए घोषित वर्ष 2018-19 का वार्षिक कार्यक्रम भी बैठक में रखा गया। कुलपति प्रो.अंजिला ने राजभाषा के वार्षिक कार्यक्रम के अक्षरशः पालन पर जोर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि हिंदी एक लोकप्रिय भाषा है, इसके प्रचार-प्रसार के लिए लगातार गतिविधियां की जानी चाहिए। उन्होंने विश्वविद्यालय की राजभाषा संबंधी उपलब्धियों को संकलित करने के भी निर्देश दिए। बैठक में कुलचिव शैलेंद्र कुमार के अलावा अधिष्ठाता और विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।