रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राष्ट्रीय प्रौद्योगकी संस्थान (एनआइटी) में शनिवार को एक दिवसीय ग्रीन महोत्सव 'पुकार ' का आयोजन हुआ। इसमें नृत्य और पुरानी यादों का सिलसिला चला। मौके पर प्रदेश भर के कॉलेज के छात्र मौजूद रहे। मुख्य अतिथि डॉ. प्रभात दीवान (डीन, छात्र-कल्याण) थी। डीसी झरिया ने ग्रीन प्रदर्शनी, स्लो-साइकिलिंग, इको-क्विज, बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट, पॉट पेंटिंग, ट्रेजर हंट व अन्य इवेंट्स में निर्णायक की भूमिका निभाई। वहीं अतिथिगण प्रफुल्ला समंत्रा (गोल्डमैन पुरुस्कार विजेता 2017), रमेश अग्रवाल (गोल्डमैन पुरस्कार विजेता 2014) ने छात्रों से अपने विचार साझा किए। प्रफुल्ला समंत्रा ने 12 वर्ष तक चलने वाले अपने हिल्स बचाओ अभियान पर बात रखी। उन्होने बताया कि पहाड़ों के संरक्षण के लिए देश भर में अभियान चलाया और यह सफल हुआ। रमेश अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने कोयला उद्योगों को बंद कराने में अहम भूमिका निभाई थी। कोयला माफिया से लोहा लेने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी । प्रवीण पंडित ने हैरतअंगेज कारनामों से छात्रों का दिल जीता।