दंतेवाड़ा। चुनाव की तैयारियों के बीच दीपावली के दूसरे दिन नक्सलियों ने सीआइएसफ जवानों का वाहन बचेली थाना इलाके में बारूदी विस्फोट से उड़ा दिया। इसमें चार नागरिकों की मौत हो गई और सीआइएसफ का एक जवान शहीद हो गया। दो जवान गंभीर रूप से घायल हैं। घटना के दूसरे दिन शुक्रवार को नक्सलियों ने सुकमा जिले में सीपीआइ समर्थित सरपंच कलमू धुर्वा की डंडे से पीट कर हत्या कर दी। जबकि दंतेवाड़ा के अरनपुर में सीआरपीएफ जवान बलजीत सिंह स्पाइक होल में गिर कर जख्मी हो गया।

चुनाव ड्यूटी के लिए सीआइएसएफ की बटालियन कोलकाता से दंतेवाड़ा आई है। गुरुवार को कुछ जवान सब्जी लेने बचेली आए थे। वापसी के दौरान छठवें नंबर मोड़ पर नक्सलियों ने वाहन को निशाना बना कर विस्फोट किया। इससे सीआइएसएफ के एक जवान डी मुखोपाध्याय व वाहन चालक रमेश पाटकर, सुशील बंजारे, हेल्पर रोशन कुमार साहू और जोहान की तत्काल मौत हो गई। कांस्टेबल सतीश पठारे तथा के सुरेश विशाल घायल हो गए जिन्हें बचेली अपोलो अस्पताल लाया गया है। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा गया।

बिना सूचना के निकले थे जवान

सीआइएसएफ के जवान आकाश नगर से किसी को खबर दिए बगैर बचेली गए थे। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जवानों ने स्थानीय जवान या थाना को बचेली जाने की सूचना नहीं दी थी जबकि यहां आ रहे सभी जवानों को सख्त हिदायत है कि कहीं जाएं तो स्थानीय जवानांे (डीआरजी) को साथ रखें। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि इसके लिए बटालियन के अफसरों को नोटिस दी जाएगी।

50 किलो का था विस्फोटक

फोर्स को नुक्सान पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने 50 किलो से अधिक विस्फोटक का उपयोग किया है। विस्फोट में वाहन क्रमांक सीजी 04 ई- 2116 का अगला हिस्सा चपेट में आया और 30 फीट से अधिक ऊंचाई तक उड़ने से परखधो उड़ गए। सड़क में करीब 12 फीट गड्ढा हो गया है।