दंतेवाड़ा। शनिवार- रविवार की दरम्यानी बचेली से आयरन ओर लेकर आ रही मालगाड़ी के सामने पेड़ गिराकर नक्सलियों ने मार्ग बाधित किया। ट्रेन के ड्राइवर एल.रामू ने पुलिस को बताया कि जैसे ही रूकी हथियारबंद नक्सलियों ने ड्राइवरों से वॉकी-टॉकी और मोबाइल अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद मौके पर बैनर-पंपलेट फेंक कर फरार हो गए।

ड्राइवर ने बताया कि बचेली के 434 /17 के पास नक्सलियों ने वारदात को अंजाम दिया। ट्रेन के रूकते ही वर्दीधारी और हथियारबंद आठ नक्सली इंजन के सामने आए। उन्होंने धमकाते हुए वॉकी टॉकी के साथ मोबाइल और चार्जर आदि छिन लिया। इसके बाद नक्सली नारे लगाते फरार हो गए।

वर्दीधारी नक्सलियों के अलावा और भी लोग आसपास मौजूद थे। इसकी सूचना ड्राइवरों ने रात को ही उच्चाधिकारी और बचेली थाने में दी। इधर सुबह मौके पर पहुंची फोर्स ने रेलवे ट्रेक से नक्सलियों के बैनर-पोस्टर भी बरामद किया।

वहीं ट्रेक में गिरे पेड़ को हटाने दोपहर बाद तक रेस्क्यू आपरेशन चलाया। बचेली थाना प्रभारी सौरभ सिंह ने बताया कि मौके से नक्सली बैनर-पोस्टर बरामद कर लिया है। ड्राइवर के आवेदन पर अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी गई। आसपास के क्षेत्र में सर्चिंग तेज करने के साथ ही संदिग्धों की तलाश की जा रही है।

ओएचई वायर टूटा, परिचालन बाधित

नक्सलियों द्वारा पेड़ गिराने से ट्रेन का ओएचई वायर टूट गया। इससे रेलवे लाइन में बिजली सप्लाई भी बाधित रही। मार्ग बहाल करने रेलवे कर्मचारी और फोर्स के जवान दोपहर बाद तक रेस्क्यू आपरेशन में जुटे रहे। देर शाम तक मार्ग ट्रेन की आवाजाही शुरू नहीं हो पाई थी।

करका मुठभेड़ को बताया फर्जी

नक्सलियों ने मौके पर बैनर व पोस्टर भी फेंके हैं। जिसमें रमन सरकार को दमनकारी बताते हुए ऑपरेशन प्रहार का विरोध करने की बात कही गई है। भैरमगढ़ एरिया कमेटी की ओर से जारी बैनर में ग्राम मुदूम मुठभेड़ में मारे गए डोडी बुधराम और ओयाम को कामरेड संबोधित करते अमर रहे लिखा है। जबकि ग्राम करका के मुठभेड़ को झूठा बताते बालक मड़काम सोमारू की हत्या का विरोध करने कहा है। साथ ही इस घटना में शामिल पुलिस जवान और अधिकारियों को सजा देकर पद से बर्खास्त करो, लिखा है।