दंतेवाड़ा। किरंदुल थाना क्षेत्र के हिरोली पहाड़ी पर नक्सली लीडर मिलिशियों सदस्यों की बैठक ले रहे थे। तभी फोर्स ने वहां धावा बोला और आठ नक्सलियों को गिरफ्तार किया। मौके से हथियार, बम और अन्य सामग्री बरामद हुई है। गिरफ्तार नक्सलियों को बचेली न्यायालय में शुक्रवार को पेश करने के बाद रिमांड पर जेल भेज दिया गया।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हिरोली पहाड़ी के ढोकापारा- बेंगपाल के जंगल में नक्सलियों की मौजूदगी और बैठक की सूचना पुलिस को तीन दिनों से मिल रही थी। इसी आधार पर गुरुवार की दोपहर बाद सीआरपीएफ और डीआरजी की टीम किरंदुल थाने से निकली थी। बताया जा रहा है कि बेंगपाल के बाद नक्सलियों ने एक कैंप लगाकर मिलिशिया सदस्यों की बैठक ले रहे थे।

बैठक में 2 दिसंबर से पीएलजीए सप्ताह मनाने और फोर्स को नुकसान पहुंचाने की रणनीतियां बन रही थी। फोर्स जब मिलिशिया सदस्य और लीडरों की मौजूदगी को लेकर आश्वस्त हो गई तो दो टीम बनाकर दो ओर से उन्हें घेरा। फोर्स उनके कैंप में घुस गई तो नक्सली हड़बड़ा गए और फायरिंग करते भागने लगे। इस दौरान चार महिला और चार पुरुष नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। मौके पर सर्चिंग के दौरान एक मोबाइल फोन, एक 303 बंदूक, दो तीर बम, एक प्रेशर बम, दो डेटोनेटर, एक स्विच, कॉर्डेक्स वायर, पटाखे तथा दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद की गई।

एरिया कमेटी प्रभारी और टेक्नीकल एक्सपर्ट मौजूद थे

आपरेशन से लौटे जवानों के मुताबिक जनमिलिशिया सदस्यों की बैठक मलांगिर एरिया कमेटी प्रभारी गंगी, लीडर प्रदीप और टेक्नीकल एक्सपर्ट दीपक मौजूद थे। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि बैठक में दीपक मिलिशिया सदस्यों को बम लगाने और विस्फोट करने की रणनीति बता रहा थाा वहीं गंगी और प्रदीप मिलिशिया सदस्यों को लीड करते अन्य दिशा- निर्देश दे रहे थे।

ज्ञात हो कि 2 से 8 दिसंबर तक नक्सली पीएलजीए सप्ताह मनाते हैं। इस बैठक में सप्ताह मनाने की तैयारी संबंधी चर्चाएं भी हुई होगी। सप्ताह के दौरान नक्सली अपने मृत साथियों की श्रद्धांजलि देने के साथ नई भर्तियां करते हैं। इस दौरान उनके द्वारा वारदात कर साथियों को श्रद्धांजलि नाच-गाकर देते हैं और वारदात उनके नाम किया जाता है। जवानों के मुताबिक तीनों नक्सली नेता, जनमिलिशिया सदस्यों के साथ पहली फायरिंग में ही भाग निकले।

इनकी हुई गिरफ्तारी

हिरोली की पहाड़ी से गिरफ्तार जनमिलिशिया सदस्यों ने हिरोली टेकापारा के 22वर्षीय भीमा पिता मंगू कड़ती, सोमडू पिता बोगी कुंजाम (24), भूमा पिता रामा कुंजामी (25) तोयापारा, सोमारू उर्फ गेर्रा पिता गुड्डी (22) सरपंचपारा, कु. सोमडी पिता जोगा कुंजामी (19) हिरोली टेकापारा, सुकमती पिता हुंगा कुंजामी (19) सरपंच पारा, कु. भीमे पिता हूंगा कड़ती (19) हिरोली डोकापारा और कु. भुमे पिता कोसा मंडावी (19) हिरोली डोकापारा हैं। पूछताछ में आरोपियों ने स्वीकारा कि वे नक्सली संगठन के लिए काम करती हैं। हिरोली की पहाड़ी में वे पीएलजीए सप्ताह मनाने की तैयारी में जुटे थे। इस बैठक में मलांगिर एरिया कमेटी के प्रदीप, प्रभारी गंगी और दीपक नाम लीडर मौजूद थे।

इनका कहना है

हिरोली की पहाड़ी में नक्सली बैठक की सूचना पर फोर्स ने उनके कैंप में धावा बोला। जहां आठ जनमिलिशिया सदस्यों की गिरफ्तारी के साथ एक हथियार, बम और दीगर सामग्रियां बरामद की गई। गिरफ्तार नक्सलियों को बचेली न्यायालय में पेश करने के बाद रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

-धीरेंद्र पटेल, एसडीओपी, किरंदुल