दंतेवाड़ा। कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम गदापाल और सूरनार के जंगल में एक वृद्ध शुक्रवार की सुबह अचेत अवस्था में पड़ा था। ग्रामीण उसे मृत और नक्सली वारदात समझ पुलिस को खबर की। जब मौके पर फोर्स पहुंची तो देखा, उसकी सांसे चल रही थी।

इसके तत्काल उसे जिला हॉस्पिटल लाया गया। जहां उपचार शुरू कर दिया गया। शारीरिक रूप से कमजोर हो चुके वृद्ध के शरीर में जख्म भी हैं। जिसे जिला हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने मामूली जख्म बताते जंगली कीड़े- मकोड़े के काटना बता रहे हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि वृद्ध के शरीर में शुगर की मात्रा काफी कम हो गई है लेकिन एल्कोहल अधिक है। संभावना जताई जा रही हैं वृद्ध अधिक मात्रा में शराब सेवन कर जंगल में 24 से 48 घंटे तक पड़ा रहा होगा। इसी दौरान बेसुध वृद्ध पर जंगली कीड़े- मकोड़ों ने हमला कर जख्मी कर दिया होगा।