दंतेवाड़ा। कुआकोंडा ब्लाक के किडरीरास जंगल में नक्सलियों ने बुधवार -गुरुवार की रात जनअदालत लगाकर ग्रामीणों के साथ जमकर मारपीट की है। वहीं नक्सलियों द्वारा किडरीरास के आधा दर्जन ग्रामीणों के अपहरण की खबर है।

सूचना की पुष्टि के लिए गांव पहुंची फोर्स ने एक दर्जन से अधिक घायलों को कुआकोंडा हॉस्पिटल पहुंचाया। एक ग्रामीण की हालत गंभीर है। वह चलने- फिरने के लायक नहीं है। गांव से गायब ग्रामीणों की तलाश में फोर्स को जंगल में भेजा गया है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार- गुरुवार की रात नक्सली ग्राम फुलपाड़, किडरीरास और आसपास के ग्रामीणों को किडरीरास के जंगल में ले गए थे। जहां जनअदालत लगाकर ग्रामीणों को शासकीय योजना से दूर रहने हिदायत दी। इसके बाद दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों के साथ जमकर मारपीट की गई।

ग्रामीणों के मुताबिक नक्सलियों का आरोप है वे पुलिस के लिए मुखबिरी करने के साथ पीएम आवास, उज्जवला योजना सहित अन्य लाभ ले रहे है। मना करने के बावजूद पुलिस और प्रशासन के संपर्क में लगातार बने हुए हैं। ग्रामीणों की सूचना पर फोर्स उनके लोगों की गिरफ्तारी और समर्पण हो रहा है।

ग्रामीणों की माने तो गुरुवार की शाम को नक्सली ग्रामीणों को अगुवा कर अपने साथ ले गए थे। अभी भी उनके कब्जे में किडरीरास सहित आसपास के आधा दर्जन से अधिक ग्रामीण हैं। घायल ग्रामीणों ने बताया कि मलांगिर एरिया कमेटी के प्रदीप और गुंडाधुर ने ग्रामीणों की मीटिंग ली और कुछ लोगों का अपहरण किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने ग्रामीणों को अगवा किया है।

नक्सली भय से नहीं आए हॉस्पिटल

जनअदालत में नक्सलियों की पिटाई से ग्रामीण इतने भयभीत हैं कि घायल होने के बाद भी उपचार के लिए सामने नहीं आ रहे हैं। शुक्रवार को गांव पहुंची फोर्स को घायल ग्रामीणों को हॉस्पिटल पहुंचाने में काफी दिक्कत है। गंभीर रुप से घायल कुमा पोडियामी को जंगल से ग्रामीण खाट में उठाकर लाए हैं। कुमा के साथ एक दर्जन ग्रामीण ही कुआकोंडा हॉस्पिटल जाने तैयार हुए।

इनमें करका देवा मरकाम, देवा ओयामी, पन्ना सोरी, नंदा मरकाम, लखा, बामन, सोना सोरी सहित 35 वर्षीय महिला जोगी सोरी भी शामिल है। गांव से लौटे जवानों का कहना है कि ग्रामीण हॉस्पिटल में इलाज कराने की बजाए देशी जड़ी बूटी से उपचार करवाने की बात पर अड़े हैं।

इनका कहना है

कुछ ग्रामीणों के अपहरण की आशंका है। ग्रामीणों के पतासाजी के लिए जवानों की टीम जंगल में घुसी है। सुरक्षा बल के जवान ग्रामीणों की तलाश कर रहे हैं। कुछ दिन पहले इसी गांव के आसपास से पुलिस ने कुछ इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया था। इससे बौखलाए नक्सलियों ने ग्रामीणों से मारपीट करने के साथ कुछ का अपहरण कर लिया है। घायल कुछ ग्रामीणों का कुआकोंडा हॉस्पिटल में उपचार करवाया गया। गंभीर रुप से घायल एक ग्रामीण को उपचार जिला हॉस्पिटल भेजा गया है।

-डॉ. अभिषेक पल्लव, एसपी दंतेवाड़ा