दंतेवाड़ा। शनिवार को मालेवाही सीआरपीएफ कैंप से महज एक-डेढ़ किमी दूर वाहनों में आगजनी करने पहुंचे नक्‍सलियों को महिला कमांडर लीड कर रही थी। छह नंबर कंपनी की कमांडर नीति और डीवीसी मेंबर निर्मला ने मजदूरों के साथ मारपीट कर निर्माण कार्य में लगे वाहनों का क्षति पहुंचाई है।

रास्‍ता बाधित होने से बारसूर और मारडूम थाने की पुलिस रविवार को मौके पर पहुंची। लेकिन शिकायत करने कोई सामने नहीं आया। निर्माण एंजेसी और उसके ठेकेदारों ने भी रविवार को एफआइआर कराने थाने नहीं पहुंचे।

विधानसभा चुनाव के बाद इलाके में नक्‍सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। शनिवार को पड़ोसी जिले के मारडूम थानांतर्गत मालेवाही और बोदली के बीच सड़क निर्माण में लगे वाहनों को आग के हवाले किया।

इसकी पुष्टि के लिए रविवार को मारडूम और बारसूर थाने की फोर्स मौके पर पहुंची। लेकिन ठेकेदार और निर्माण एजेंसी की ओर से एफआइआर कराने कोई नहीं पहुंचा। ग्रामीण और मजदूर भी पुलिस के सामने कुछ कहने से बचते रहे। थाना प्रभारी मारडूम कौशलेष देवांगन की माने तो संबंधित ठेकेदारों तक खबर भिजवाकर एफआइआर कराने कहा गया है। पीडित मजदूरों से चर्चा कराने कहा गया है।

मौके पर मिला पाइप बम और नक्‍सलियों का बैनर

रविवार को मौके पर पहुंची पुलिस ने नक्‍सलियों का एक बैनर जब्‍त किया। इसके अलावा एक पाइप बम के साथ इलेक्‍ट्रीक वायर भी मिला है। माना जा रहा है कि नक्‍सली किसी बड़ी साजिश के तहत निर्माण स्‍थल पर पहुंचे थे। जब्‍त बैनर नक्‍सलियों के पूर्व बस्‍तर डिवीजन कमेटी की ओर से लगाया गया है। जिसमें प्राक़तिक संपदाओं व जल जमीन व संसाधनों के अवैध लूट दोहन के खिलाफ की बात लिखी है।

अगली बार नजर आए तो मारे जाओगे

दबी जुबान एक वाहन चालक ने बताया कि करीब 100 की संख्‍या में पहुंचे नक्‍सलियों ने सबसे पहले उसे पकड़ा। वह मटेरियल छोड़ने गया था। उसके बाद अन्‍य मजदूरों के साथ उसे कुछ दूर ले गए। हथियारबंद और वर्दीधारी महिला नक्‍सली पूछताछ के साथ मारपीट करते रहे। गंदी गालियां देते ठेकेदार के बारे में पूछते रहे। साथ ही कहा कि तुम लोगों को पहले भी काम नहीं करने कहा था लेकिन नहीं माने। अगली बार नजर आए तो मारे जाओगे।

इसके बाद वाहनों में आग लगा दी गई। ग्रामीण सूत्रों की माने तो मारपीट करने वाली महिला नक्‍सली निर्मला थी। जबकि नीति नामक कंपनी कमांडर पूछताछ में ज्‍यादा रुचि ली है। निर्मला के निर्देश पर ही वाहनों को फूंका और मजदूरों के साथ मारपीट हुई है।