दंतेवाड़ा। नईदुनिया प्रतिनिधि

भाजपा-कांग्रेस में समर्थकों के प्रवेश प्रक्रिया के बीच दंतेवाड़ा विधायक देवती कर्मा और स्व महेंद्र कर्मा के पुत्र छविंद्र में निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। इसके बाद से कांग्रेस में खलबली मच गई है। कांग्रेसी इसे भाजपा की चाल बताते छविंद्र कर्मा को मना लेने की बात कह रहे हैं। वहीं छविंद्र कर्मा ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ और वफादार सिपाहियों की टीम उनके साथ है और यही कांग्रेस और जनता के बीच के लोग हैं। उनके सम्मान और निर्देश पर निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया गया है।

शनिवार को जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सीएम देवी दर्शन कर रहे थे, उसी वक्त महेंद्र कर्मा के पुत्र छविंद्र कर्मा के आवास में सैकड़ों कांग्रेसियों की बैठक हुई। बैठक में छविंद्र कर्मा के विधानसभा चुनाव लड़ने पर सहमति बनी। इसके बाद छविंद्र कर्मा ने मीडिया के समक्ष इस बात का ऐलान किया। मीडिया के सवाल पर कहा कि वे अपनी मां देवती कर्मा के खिलाफ नहीं हैं बल्कि जनता की मांग पर चुनावी मैदान में उतर रहे हैं। मां देवती कर्मा भी पिता की तरह जनता की सेवा कर रही हैं। जनता के सहयोग से मैं भी उनकी सेवा करूंगा।

पिता को भी पहले तवज्जो नहीं दिया था

छविंद्र कर्मा ने कहा कि उन्होंने पिता महेंद्र कर्मा से राजनीति सीखा है और उनके करीब रहे हैं। कांग्रेस पार्टी से विधायक के लिए टिकट की दावेदारी किया था लेकिन पार्टी के सीनियर नेता नहीं चाहते। इधर जनता चाहती है कि मैं विधायक बनूं। उन्होंने पुरानी बातें याद करते कहा कि मेरे पिता को भी कांग्रेस ने पहले तवज्जो नहीं दिया था। जब जनता ने उन्हें सांसद, जिला पंचायत अध्यक्ष और विधायक बनाया तो सिर आंखों में बिठा लिया था। लगता है, मेरे साथ भी ऐसा कुछ होने वाला है। पिछले चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने मुझे इस सत्र में टिकट देने का आश्वासन दिया था लेकिन अब टिकट देने से इंकार कर रहे हैं इसलिए मेरे समर्थकों के मार्गदर्शन और आदेश पर मैं निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर रहा हूं।

'दंतेवाड़ा से देवती कर्मा के अलावा छविंद्र कर्मा ने भी विधायक टिकट के लिए दावेदारी की है। पार्टी ने अभी अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। घोषणा के बाद उन्हें मना लिया जाएगा। वे सच्चे कांग्रेसी और विधायक पुत्र हैं। मां या बेटे दोनों में से किसी को भी पार्टी टिकट दे, जिले के कांग्रेसी उनके साथ हैं।'

-विमल सुराना, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

---