धमतरी। टाइगर रिजर्व सीतानदी अभयारण्य में तीन ग्रामीणों ने बिजली के करंट से लकड़बग्घे का शिकार कर लिया। वन विभाग ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर वन्यप्राणी संरक्षण के तहत मामला दर्ज किया है।

धमतरी जिले के वनांचल ब्लाक नगरी के कट्टीगांव निवासी रामप्रसाद, श्यामाचरण और हीरालाल ने आठ जनवरी को जंगली जानवरों का शिकार करने की नीयत से जंगल के कक्ष क्रमांक 334 में विद्युत ट्रांसफार्मर से कनेक्शन खींचकर 100 मीटर के दायरे में करंट लगा दिया था।

रात में लकड़बग्घा उस क्षेत्र में आया और करंट की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग हरकत में आया। लकड़बग्घे की लाश को बरामद कर पंचनामा के बाद पीएम कराया गया। लकड़बग्घे की उम्र सात वर्ष आंकी गई है।

रिमांड पर भेजे गए जेल

इस मामले में सीतानदी अभयारण्य के सहायक संचालक आरके रायस्त ने बताया कि ग्रामीण तीनों आरोपितों के खिलाफ वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा विभिन्न् धाराओं के तहत गिरफ्तार मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर नगरी के न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय के रिमांड पर उन्हें जेल भेज दिया गया है।