धमतरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्राथमिक और माध्यमिक कक्षाओं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की परीक्षा संपन्न हुए माहभर हो गई है, पर अब तक रिजल्ट घोषित नहीं हो पाया है। इससे पालक और छात्र मायूस हैं। समय पर रिजल्ट नहीं आने के कारण छात्र अन्य कक्षा में भर्ती के लिए असमंजस की स्थिति में है। जानकारी के अनुसार चार अप्रैल से नौ अप्रैल के मध्य पहली से लेकर कक्षा पांचवी तक की परीक्षा आयोजित हुई। इसी तरह चार अप्रैल से 16 अप्रैल के मध्य कक्षा छठवीं से लेकर आठवीं तक की परीक्षा जिले में हुई।

जिला शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कक्षा आठवीं की परीक्षा में 14 हजार 468 छात्र-छात्राएं शामिल हुए। इसी तरह कक्षा पांचवी में 13 हजार 348 छात्र-छात्राएं शामिल हुए। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि रिजल्ट में पारदर्शिता बरतने के उद्देश्य से इस बार एक संकुल में शामिल छात्र-छात्राओं की उत्तरपुस्तिकाओं की जांच दूसरे संकुल के शिक्षकों ने की है। जांच-उपरांत अंकों को ऑनलाइन कंप्यूटर में लोड किया जा रहा है। जिस एप्लीकेशन से छात्र-छात्राओं के प्राप्तांक को लोड किया जा रहा था, उसमें उसमें कुछ तकनीकी खामियों के कारण कुछ शिक्षक डाटा अपलोड नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में उच्चाधिकारियों ने समस्या से निजात दिलाने एप्लीकेशन को ही अपडेट कर दिया। नया वर्जन आने से डाटा फीडिंग का कार्य प्रभावित हुआ। इसके चलते शिक्षकों को फिर नए सिरे से डाटा अपलोड करना पड़ रहा है। पूरे प्रदेश भर में यह प्रक्रिया अपनाई जा रही है। कुछ जिलों में अब तक यह कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। इसके कारण कारण रिजल्ट भी घोषित नहीं हो पाया है। मालूम हो कि मूल्यांकन में पारदर्शिता बरतने के उद्देश्य से ही इस बार कंप्यूटर के माध्यम से डाटा अपलोड कराया जा रहा है। पांचवी आठवीं का रिजल्ट 15 मई तक घोषित हो जाना था, लेकिन अब तक रिजल्ट की घोषणा नहीं हो पाई है।

डाटा लोड नहीं हो पाया

'तकनीकी खामी की वजह से डाटा लोड नहीं हो पाया है। डाटा लोड होने के बाद जल्द ही पांचवी और आठवीं कक्षा के रिजल्ट की घोषणा की जाएगी।'

-विपिन देशमुख, समन्वयक, राजीव गांधी शिक्षा मिशन