कोरबा। दीपका कोयला खदान में अचानक हुए मधुमक्खियों के हमले से पांच लोग घायल हो गए। सभी घायलों को उपचार के लिए नेहरू शताब्दी चिकित्सालय गेवरा भेजा गया। घटना के बाद एसईसीएल प्रबंधन मधुमक्खी के छत्ते को हटाने की व्यवस्था में जुट गई है। एसईसीएल दीपका खदान के कांटाघर क्रमांक-आठ में बुधवार की सुबह 11.30 बजे वाहनों की धुलाई चल रही थी। इस बीच छत पर लंबे समय से बने मधुमक्खियों के छत्ते तक पानी का छिंटा पहुंच गया। बस पिᆬर क्या था मधुमक्खी बिदक गए और एक साथ सैकड़ों मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। इस घटना से अपᆬरा-तपᆬरी मच गई और लोग भागने लगे। इस दौरान वहां मौजूद पांच कर्मियों को मधुमक्खियों ने अपना निशाना बनाया। बुरी तरह घायल लोगों को अन्य कर्मचारियों ने नेहरू शताब्दी चिकित्सालय गेवरा में उपचार के लिए भर्ती कराया, जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।