रायपुर। आमानाका थाना क्षेत्र में आरडीए कालोनी निवासी विवाहिता पूनम चौहान के कथित रूप से रविवार की रात फांसी लगाकर खुदकुशी करने के मामले में पुलिसिया कार्रवाई संदेह के घेरे में है। मृतका के शव का तीन दिन बाद बुधवार को पोस्टमार्टम कराया जा सका, वह भी एसपी नीतू कमल के हस्तक्षेप के बाद।

थाना प्रभारी रोहित मालेकर द्वारा तीन दिन से कोई कार्रवाई नहीं करने से बिफरे परिजन व उनके साथ आए ट्रांसपोर्टरों ने गंभीर आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सोशल मीडिया में वायरल एक वीडियो में टीआइ के सामने हाथ जोड़े मृतका के परिजन और उनकी मदद करने पहुंचे ट्रांसपोर्टर कार्रवाई करने व शव का पीएम कराने की मांग करते बिलखते दिखाई दे रहे हैं, लेकिन टीआइ का रवैया असंवेदनशील दिखाई दे रहा है।

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले की गिहकुड़ी निवासी पूनम चौहान (22) की शादी 18 महीने पहले सरोना ओवरब्रिज के पास आरडीए कालोनी मकान नंबर 208 निवासी शिवकुमार चौहान से हुई थी।

शादी के बाद से ही पूनम को दहेज की मांग को लेकर शिवकुमार द्वारा प्रताड़ित करने का आरोप मृतका की मां सुशीला देवी, भाई राजेश चौहान समेत अन्य ने लगाया है। रविवार की रात 9.30 बजे पूनम की लाश पंखे से लटकी हुई सबसे पहले पति शिवकुमार चौहान ने देखी और पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस ने रात होने की वजह से कमरे को सील कर दिया था।

थाना प्रभारी रोहित मालेकर ने अपना पक्ष रखते नईदुनिया को बताया कि घटना की जानकारी फोन पर मृतका के परिजन को उसी दिन दे दी गई थी। चूंकि नवविवाहिता की खुदकुशी के मामले में पुलिस को पंचनामा, पोस्टमार्टम की कार्रवाई का अधिकार नहीं है, लिहाजा सोमवार को तहसीलदार को पत्र लिखकर पंचनामा कार्रवाई करने बुलाया गया।

उनकी मौजूदगी में कार्रवाई की गई। मंगलवार की सुबह 11 बजे मृतका का भाई राजेश चौहान समेत परिवार के अन्य लोग रायपुर पहुंचे, लेकिन उनसे कोई भी नहीं मिला। केवल फोन पर बात हुई थी। भाई राजेश ने शाम तक मां के आ जाने पर शव का पोस्टमार्टम कराने की बात कही।

देर शाम 7.30 बजे मृतका की मां सुशीला देवी यहां पहुंची, लेकिन रात होने के कारण पीएम नहीं हो सका। बुधवार की सुबह परिजनों को शव का पीएम कराने के लिए एम्स बुलाया गया, लेकिन वे नहीं आए और वरिष्ठ अधिकारियं के शिकायत करने पहुंच गए।

मालेकर ने कहा कि अगर पुलिस परिवार की गैरमौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम करा देती तो उल्टे आरोप लगाए जाते। परिजनों की संवेदनाओं को समझते हुए हमने पहले दिन से मृतका के पति शिवकुमार चौहान को थाने में बैठाकर रखा था। परिजन की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम कराने के साथ ही मामले में शिवकुमार चौहान के खिलाफ अपराध कायम कर उसकी गिरफ्तारी की गई।

कार्रवाई से संतुष्ट हैं परिजन

टीआई ने बताया कि आज जब परिवार वाले आकर मिले तब पंचनामा कार्रवाई, बयान दर्ज करने के साथ अपराध कायम किया गया। वे पुलिस की कार्रवाई से अब पूरी तरह संतुष्ट है

- नवविवाहिता की खुदकुशी के मामले में आमानाका पुलिस ने पूरी कार्रवाई की है। शव का पीएम परिजन के बिलंब से आने पर तीसरे दिन किया जा सका। परिजन की शिकायत पर मृतका के पति के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी भी की गई है। - नसर सिद्दिकी, सीएसपी आजादचौक