दुर्ग। दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी विजय बघेल ने जीत कर ली है। हालांकि इसकी अधिकृत घोषणा बाकी है। बघेल ने अंतिम चरण तक कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिमा चन्द्राकर के खिलाफ 3 लाख 83 हजार वोटों से आगे थे और केवल 19 हजार वोटों की गिनती बाकी है। इस तरह भाजपा के खेमे में जश्न शुरू हो गया।

गौरतलब है कि दुर्ग लोकसभा सीट पर ज्यादातर कांग्रेस का कब्जा रहा है। क्षेत्र के मतदाताओं ने नौ बार हाथ को साथ देकर कांग्रेसी प्रत्याशी को विजयी बनाया है। संसदीय क्षेत्र में भाजपा का कमल पांच बार खिल चुका हैं वहीं दो बार जनता दल का चक्र भी मतदाताओं के बीच चलने में कामयाब रहा है। दुर्ग लोकसभा सीट पर वर्तमान में कांग्रेस का कब्जा था। भीषण मोदी लहर में प्रदेश की एकमात्र दुर्ग लोकसभा सीट पर कांग्रेस को जीत मिली थी। इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उक्त सीट को बचाने तथा भाजपा खोई हुई पुरानी सीट को हासिल करने के लिए चुनाव लड़ रही थी।

भाजपा ने प्रत्याशी घोषित कर दिया है, लेकिन कांग्रेस दुर्ग फतह कर सकने योग्य प्रत्याशी की तलाश में जुटा हुआ है। दोनों ही पार्टियों द्वारा सामाजिक वोटों के गुणा-भाग को भी ध्यान में रखा जा रहा है। दुर्ग ससंदीय सीट के अब तक चुनावी नतीजों पर गौर करें तो लोकसभा क्षेत्र की जनता ने सर्वाधिक नौ बार कांग्रेस प्रत्याशी को अपना प्रतिनिधि चुनकर संसद में भेजा है।

राजनीतिक प्रेक्षकों की मानें तो कांग्रेस के लिए दुर्ग लोकसभा जीतना प्रतिष्ठा का सवाल बन गया था। राजनीतिक प्रेक्षकों की मानें तो दुर्ग में भाजपा की जीत से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सीधे तौर पर कमजोर होंगे। वहीं, भाजपा यह संदेश देने में भी सफल हो जाएगी कि मुख्यमंत्री और उनके तीन मंत्रियों को उनके घर में मात दे दी गई। चुनाव के बीच ताम्रध्वज साहू के बेटे को टिकट नहीं मिलने के कारण उनकी नाराजगी खुलकर सामने आ रही थी। प्रचार अभियान में भी ताम्रध्वज सक्रिय नहीं हुए थे। इसके अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव मोतीलाल वोरा के बेटे अरुण वोरा को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने से उनके समर्थकों में नाराजगी देखने को मिल रही थी। बताया जा रहा है कि भाजपा की नजर कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति से नाराज चल रहे नेताओं पर भी थी।

दुर्ग से भाजपा-कांग्रेस से जीते सांसद

1. वासुदेव श्रीधरन कीरोलिकर - कांग्रेस

2. मोहन लाल बाकलीवाल - कांग्रेस

3. मोहन लाल बाकलीवाल - कांग्रेस

4. वी.वाय ताम्रकार - कांग्रेस

5. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

6. मोहन जैन - जनता पार्टी

7. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

8. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

9. पुरुषोत्तम कौशिक - जनता दल

10. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

11. ताराचंद साहू - भाजपा

12. ताराचंद साहू - भाजपा

13. ताराचंद साहू - भाजपा 1999

14. ताराचंद साहू - भाजपा 2004

15. सरोज पांडेय - भाजपा 2009

16. ताम्रध्वज साहू - कांग्रेस - 2014

यह भी पढ़ें...

Raipur Lok Sabha Result 2019 : भाजपा प्रत्याशी सुनील सोनी फिर आगे

Bilaspur Lok Sabha Result 2019 : शुरुआती रूझान में बिलासपुर सीट पर कांग्रेस आगे

Kanker Lok Sabha Result 2019 : भाजपा प्रत्याशी मोहन मंडावी 81235 मतों से चल रहे हैं आगे

Raigarh Lok Sabha Result 2019 : भाजपा प्रत्याशी गोमती साय ने 1100 मतों से बनाई बढ़त, कांग्रेस को छोड़ा पीछे