भिलाई। दुर्ग लोकसभा सीट पर कब्जा को लेकर राजनीतिक दलों के बीच सियासी दांव पेंच शुरू हो गया है। लेकिन संसदीय क्षेत्र के अब तक नतीजों पर गौर करें तो क्षेत्र के मतदाताओं ने नौ बार हाथ को साथ देकर कांग्रेसी प्रत्याशी को विजयी बनाया है। संसदीय क्षेत्र में भाजपा का कमल पांच बार खिल चुका हैं वहीं दो बार जनता दल का चक्र भी मतदाताओं के बीच चलने में कामयाब रहा है।

दुर्ग लोकसभा सीट पर वर्तमान में कांग्रेस का कब्जा है। भीषण मोदी लहर में प्रदेश की एकमात्र दुर्ग लोकसभा सीट पर कांग्रेस को जीत मिली थी। इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उक्त सीट को बचाने तथा भाजपा खोई हुई पुरानी सीट को हासिल करने राजनीतिक दांव पेंच का दौर भी शुरू हो गया है।

भाजपा ने प्रत्याशी घोषित कर दिया है, लेकिन कांग्रेस दुर्ग फतह कर सकने योग्य प्रत्याशी की तलाश में जुटा हुआ है। दोनों ही पार्टियों द्वारा सामाजिक वोटों के गुणा-भाग को भी ध्यान में रखा जा रहा है। दुर्ग ससंदीय सीट के अब तक चुनावी नतीजों पर गौर करें तो लोकसभा क्षेत्र की जनता ने सर्वाधिक नौ बार कांग्रेस प्रत्याशी को अपना प्रतिनिधि चुनकर संसद में भेजा है।

वहीं पांच बार भाजपा प्रत्याशी इस संसदीय सीट से चुनाव जीतने में सफल रहे हैं, जबकि दो बार जनता दल के प्रत्याशी के सिर पर जनता ने ताज पहनाया है। वहीं आम चुनाव-2019 पर सबकी नजर है। इस पर दुर्ग में कमल खिलेगा या फिर पंजे की पकड़ मजबूत होगी या फिर किसी अन्य दल के सिर पर जीत का ताज सजेगा।


दुर्ग से भाजपा-कांग्रेस से जीते सांसद

1. वासुदेव श्रीधरन कीरोलिकर - कांग्रेस

2. मोहन लाल बाकलीवाल - कांग्रेस

3. मोहन लाल बाकलीवाल - कांग्रेस

4. वी.वाय ताम्रकार - कांग्रेस

5. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

6. मोहन जैन - जनता पार्टी

7. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

8. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

9. पुरुषोत्तम कौशिक - जनता दल

10. चंदूलाल चंद्राकर - कांग्रेस

11. ताराचंद साहू - भाजपा

12. ताराचंद साहू - भाजपा

13. ताराचंद साहू - भाजपा 1999

14. ताराचंद साहू - भाजपा 2004

15. सरोज पांडेय - भाजपा 2009

16. ताम्रध्वज साहू - कांंग्रेस - 2014