दुर्ग। नईदुनिया प्रतिनिधि

तितुरडीह वार्ड क्रमांक-21 में प्रवेश के लिए बनाए गए हर मार्ग पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। अब तितुरडीह वार्ड सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहेगा। लगाए गए कैमरे को आपरेट करने के लिए वार्ड में ही व्यवस्था की गई है।

दुर्ग निगम के पटरीपार स्थित तितुरडीह वार्ड क्रमांक-21 पूरी तरह सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहेगा। वार्ड में प्रवेश करने वालों की तस्वीर यहां लगाए गए सीसीटीवी कैमरे में आ जाएगी। पार्षद अरुण सिंह ने बताया कि तितुरडीह दुर्ग निगम का पहला वार्ड होगा, जहां प्रवेश के लिए बनाए गए हर मार्ग पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। वार्ड क्रमांक-21 की कुल आबादी करीब साढ़े पांच हजार है। वार्ड में सिंधिया नगर, मुकुट नगर, हनुमान नगर, कालीबाड़ी, शिवाजी नगर और आदित्य नगर का कुछ हिस्सा शामिल है। पार्षद ने बताया कि वार्ड में कुल सात कैमरे लगाए गए हैं। जिसमें छह बड़े कैमरे हैं। बड़े कैमरे चारों तरफ कम से कम सौ मीटर की दूरी तक कव्हर करेगा। इस परिधि में वार्ड के भीतर आने व वार्ड से बाहर जाने वालों की तस्वीर को कैद कर लेगा।

इन स्थानों पर लगाया कैमरा

पार्षद के मुताबिक वार्ड के हर प्रवेश द्वार पर कैमरा लगाया गया है। वार्ड स्थित मोहन मिष्ठान, रायपुर नाका के पास, प्लाजा बार के पास, झंडा चौक के पास, इंडोर स्टेडियम गार्डन के पास, आशा नगर जवाहर नगर जाने वाले रास्ते के पास, आदित्य नगर चौक पर मंदिर के पास लगाया गया है। कुछ कैमरे प्रवेश द्वार से लगे चौक चौराहों पर लगाया गया है। वार्ड के हनुमान नगर में दुर्ग का एकमात्र इनडोर स्टेडियम बना हुआ है। उक्त इनडोर स्टेडियम के हाल से सीसीटीवी कैमरे के सिस्टम को ऑपरेट किया जाएगा। इसके देखरेख की जिम्मेदारी कैमरा लगाने वाली कंपनी पर है।

वार्डवासियों की सुरक्षा भी जरुरी

पार्षद अरुण सिंह ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से वार्ड के हर प्रवेश द्वार पर कैमरा लगवाया गया है। ताकि किसी भी तरह की घटना होने की सूरत में वार्डवासियों और पुलिस प्रशासन को परेशान ना होना पड़ा। वार्ड की आबादी सघन है और देर रात तक लोगों का आना जाना लगा रहता है। पार्षद ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में लगाने में कुल चार लाख रुपये खर्च किया गया है। खर्च की गई राशि पार्षद अरुण सिंह के निधि की है। अरुण सिंह का कहना है कि वार्ड में सड़क, बिजली, नाली निर्माण के लिए ही अब तक राशि खर्च की जाती रही है, लेकिन आए दिन होने वाली अपराधिक घटनाओं को ध्यान में रखते हुए वार्डवासियों की सुरक्षा को भी प्राथमिकता में लिया जा रहा है। पार्षद ने यह भी दावा किया है कि तितुरडीह दुर्ग ही नहीं छत्तीसगढ़ का पहला वार्ड है, जहां वार्डवासियों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है।

--